चंड़ीगढ़ (Chandigarh) की शान रोज गार्डन (rose garden) के बारे में जानिये विस्तार सहित



चंड़ीगढ़ (Chandigarh) शहर पंजाब और हरियाणा दोनों राज्यों की राजधानी है। यह शहर अपनी खूबसूरती के लिए पूरे भारत देश में विख्यात है। चंड़ीगढ़ पंजाबी सिनेमा कलाकारों का शहर है। यहाँ पर अकसर फिल्में बनाई जाती है। इस नगर में लोग खरीदारी करने के दूर दूर से आते है। यह स्थान प्रकृति से नाता रखने वाले सैलानियों के लिए जन्नत से कम नहीं। यहाँ पर पर्यटकों के लिए बहुत कुछ है। जिनमें रोज गार्डन (rose garden) सब से ज्यादा खूबसूरत स्थान है। यह एशिया के सबसे बड़े गार्डन में से एक है। इसे जाकिर हुसैन रोज गार्डन (zakir hussain rose garden) के नाम से भी जाना जाता है। 




हर साल बहुत बड़ी संख्या में लोग इस पार्क में घूमने के लिए आते है। इसका क्षेत्रफल 30 एकड़ के आस पास है। इसमें करीब 825 प्रकार के फूल, 32500 प्रकार के पेड़ पाए है। इन पेड़ो में कुछ ऐसे पेड़ भी है, जिनसे अलग अलग बीमारी की दवाई बनाई जाती है। यह सेक्टर 16 में स्थित है। यह पार्क परिवार के साथ घूमने के लिए, नए शादी शुदा जोड़े के लिए या किसी भी उम्र के व्यक्ति के लिए बहुत ही बढ़िया स्थान है। आइए बात करते है हम रोज गार्डन (rose garden) के बारे में विस्तार सहित। 




इतिहास (History)


वर्ष 1967 में पहले मुख्य आयुक्त डॉक्टर मोहिंदर सिंह रंधावा ने रोज गार्डन का निर्माण करवाया था। इस समय इसकी देखभाल का जिम्मेदारी चंड़ीगढ़ (Chandigarh) प्रशासन के हाथों में है। यह बग़ीचा शहर की शान है। इसमें एक छोटी सी झील का भी निर्माण किया गया है। इस पार्क में आने के लिए बहुत से दरवाज़े है। लोग सुबह शाम यहाँ पर घूमने के लिए या सैर करने के लिए आते है। 




रोज फेस्टिवल (Rose festival)


जिन लोगों को गुलाब के फूलों की ज्यादा से ज्यादा किस्मों को देखना हो तो वह सभी रोज फेस्टिवल में जरूर हिस्सा लें। गुलाब उत्सव का आयोजन हर साल फ़रवरी के महीने से मार्च के आखिर तक रहता है। इसमें हर साल बहुत बड़ी संख्या में लोग भाग लेते है। हर कोई गुलाबों की खुशबू से महक उठता है। इस उत्सव में सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किये जाते है।  






समय और प्रवेश शुल्क (Time and entry fees)


जाकिर हुसैन रोज गार्डन (rose garden) सुबह  6 बजे से रात 10 बजे तक पर्यटकों के लिए खुला है। इस बगीचे में घूमने के लिए प्रति व्यक्ति 50 रुपए शुल्क लगता है। यह सप्ताह भर खुला रहता है। 




कुछ सावधानियाँ (Some precautions)


  • बग़ीचे में किसी प्रकार का कूड़ा फेंकना मना है। 


  • फूलों को बिलकुल भी ना तोड़े। 


  • इस पार्क में किसी भी चीज़ को नुकसान या ख़राब करने की कोशिश बिलकुल न करें। 


  • आप यहाँ पर किसी भी प्रकार से फूलों या पार्क को नुकसान पहुंचते पकड़े जाते है तो, आप को भरी जुर्माना भी भरना पड़ सकता है। यहाँ पर घूमने के लिए अगस्त से मार्च तक का महीना बहुत ही बढ़िया है। 


  • आप रेल या हवाई जहाज से भी चंडीगढ़ (Chandigarh) घूमने के लिए आ सकते है। अंतर्राष्ट्रीय और घरेलू दोनों तरह की हवाई सेवा मिलती है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

कृपया कमेंट बॉक्स में कोई भी स्पैम लिंक न डालें।