रविवार, 8 मार्च 2020

विस्तारपूर्वक अद्भुत पीसा (Pisa) की मीनार (Tower) के बारे खास जानकारी पढ़े


दुनिया के हर देश में कोई ना कोई ऐसी इमारत जरूर है, जो अपनी खूबसूरती या कुछ विशेष कारणों से प्रसिद्ध है। इनमें एक नाम लीनिंग टावर (Leaning tower) का भी आता है। लीनिंग टावर इटली के टस्कनी राज्य की राजधानी पिसा में स्थित है। यह इमारत अपनी खूबसूरती के साथ साथ, एक तरफ झुके होने के कारण प्रसिद्ध है। इस मीनार को पीसा की मीनार या फ्री स्टैडिंग क्लॉक टावर के नाम से भी जाना जाता है। आइये आज बाते करते है, लीनिंग टावर और उसके आस पास पर्यटन स्थलों के बारे में विस्तार से।

मीनार को बनाने का कारण (Reason For Building The Tower)


पीसा (Pisa) की मीनार को दुनिया के सात अजूबों में शामिल करने की बात की जा रही है। यह मीनार इटली के इतिहास में बहुत ही महत्वपूर्ण स्थान रखती है। फ्री स्टैंडिंग क्लॉक टावर का निर्माण  वर्ष 1173 से 1399 तक चला था। इसे बनाने में करीब 200 साल का समय लगा था। इन टावर को बनाने के पीछे का मुख्य कारण पीसा (Pisa) के लोगों के द्वारा, फ्लोरेंस के लोगों को नीचा दिखाना था। इसमें कुल 8 मंजिले है, जब 3 मंज़िल का कार्य पूरा था, उसी समय यह टावर एक तरफ झुक गया था।




बोनानो पिसानो वास्तु शिल्पी ने इस इमारत का डिज़ाइन बनाया था। लीनिंग टावर (Leaning tower) के शीर्ष पर जाने के लिए उत्तर में 294 और दक्षिण में 296 सीढ़ियाँ है। दूसरे विश्व युद्ध में जर्मन के सिपाहियों ने इसका उपयोग सर्च टावर के रूप में किया था। कोकैथेड्रल स्क्वायर इस टावर के आधार को कहा जाता है। वर्ष 1987 में इसको विश्व धरोहर में शामिल कर लिया गया था।


यह पढ़े:-   जम्मू कश्मीर में घूमने वाली जगहों के बारे में 

मीनार का रहस्य (Mystery Of Tower)


कहा जाता है कि 500 सालो से यह इमारत ऐसे ही खड़ी है। इटली में 500 सालों के दौरान 4 बड़े भूकंप भी आ चुके है। भूकंम्पो के कारण भी यह इमारत नहीं गिरी। वैज्ञानिकों का कहना है कि इस इमारत के आधार में मुलायम मिट्टी का उपयोग किया गया था। मुलायम मिट्टी होने के कारण यह इमारत एक तरफ झुक गयी है। जब भूकंप आते है तो, इस मिट्टी में कम्पन होने लगता है, जिसकी वजह मीनार गिर नहीं पायी। कुछ लोगों के हिसाब से इस मीनार का एक तरफ झुका होना, किसी रहस्य से कम नहीं।

किसने बनवाया? (Who Built It)


पीसा की मीनार को बनवाने के पीछे इतिहासकारों के मत आपस में मिलते नहीं है। इतिहासकार बोनानो पिसानो को, घेरादो डी घेरोदो या बोनेब्रस में से एक को इसका रचयिता मानते है। यह सारी इमारत संगमरमर से बनी हुई है। लीनिंग टावर बिलकुल गोल बना हुआ है। इसकी ऊँचाई 57 मीटर है। इसका निर्माण रोमन शैली में किया गया है।



शुल्क (Charges)


लीनिंग टावर को देखने के लिए भारतीय लोगों को 1198 रुपए शुल्क देना होता है। किसी और देश के सैलानियों को 15 यूरो शुल्क देना पड़ता है। सैलानी इसे सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक देख सकते है। एक सप्ताह में सिर्फ 6 दिन ही खुलता है। सोमवार को यह टावर बंद होता है। लीनिंग टावर को देखने के लिए लोग देश विदेश से आते है।


यह पढ़े:- लेह लद्दाख में घूमने वाले स्थानों के बारे में जानकारी 

पीसा की मीनार के पास घूमने वाले स्थान (Places to visit near the tower of Pisa)


कैथेड्रल ऑफ़ सेंटा मारिया असुनटा (Cathedral Of Santa Maria Assunta)


कैथेड्रल ऑफ़ सेंटा मारिया असुनटा पीसा (Pisa) में बहुत ही महत्वपूर्ण स्थान है। हर साल बहुत बढ़ी संख्या में लोग यहाँ पर घूमने के लिए आते है। इसे प्रसिद्ध शिल्पकार बुरश्रो के द्वारा बनवाया गया है। यह सारी इमारत संगमरमर से बनी हुई है।




बैपटिसट्री (Baptistery)


बैपटिसट्री पीसा का एक खास आकर्षण है। यह संगमरमर से बनी गुंबदनुमा इमारत है। वर्ष 1153 से 1260 में इसका निर्माण हुआ था। इस इमारत का निर्माण निकोला पिसोला ने पूरा करवाया था। अपनी सुन्दरता के कारण यह सैलानियों की पहली पसंद में आता है।



कैंपो सेंटों (Campo Santo)


कैम्पा सेंटो में पीसा (Pisa) के नागरिकों के मरे शरीर को दफ़न किया जाता था। यहाँ की मिट्टी को पवित्र माना जाता है। यहाँ पर मुख्य रूप से देश के लिए जान देने वाले लोगों को दफ़न किया जा जाता है।



म्यूजियो डेल ओपेरा डेल ड्यूमो (Museo Dell’Opera Del Duomo)


दुनिया में मूर्तिकला का सब से बढ़िया उदाहरण म्यूजियो डेल ओपेरा डेल ड्यूमो में देखने को मिलता है। यह एक चर्च है, जिसको संगमरमर से बनाया गया है। यहाँ पर जीवंत मूर्तियों के बहुत ही सुन्दर नमूने देखने को मिलते है।



पलाज़ो देई कैवेलियरी (Palazzo Dei Cavalier)


पलाज़ो देई कैवेलियरी घुड़सवारी का शौक़ रखने वाले सैलानियों के लिए बढ़िया स्थान है। यहाँ पर घुड़सवारी की सिखलाई भी दी जाती है। सारे साल यहाँ पर घुड़सवारी को आयोजन किया जाता है। घुड़सवारी को देखने के लिए लोग दुनिया के कोने कोने से आते है।





यह भी देखे :- इटली के पर्यटन स्थल के बारे में जानकारी

पलाज़ो ब्लू (Palazzo Blue)


इटेलियन कला का बहुत ही खूबसूरत नमूना पलाज़ो ब्लू है। यह एक बहुत ही सुन्दर और आकर्षित करने वाला संग्रहालय है। इस संग्रहालय में 16 वीं सदी से, 20 वीं सदी के इतिहास का पता चलता है। पीसा में सब से पहले चलाये गए सिक्कों की झलक देखने को मिलती है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

कृपया कमेंट बॉक्स में कोई भी स्पैम लिंक न डालें।

अहमदाबाद गुजरात भारत के पर्यटन स्थल के बारे में विस्तार सहित जानकारी

अहमदाबाद (Ahmedabad) गुजरात का बहुत ही सुन्दर शहर है। यह पहले गुजरात की राजधानी हुआ करता था। इसको कर्णावती नाम से भी पहचाना जाता है। साबरमती...