ads

चीन का वीज़ा कैसे ले? और घूमने वाले पर्यटक स्थानों के बारे में जानकारी (How to get a visa for China? And information about visiting tourist places)

दुनिया में सब से ज्यादा आबादी चीन (China) देश की है। चीन देश की गिनती दुनिया के सब से समृद्ध देशों में जाती है। यह देश प्राकृतिक और सांस्कृतिक कार्यक्रमों के लिए प्रसिद्ध है। इस देश के अकेले 47 पर्यटन स्थल विश्व धरोहर में शामिल किये गए है। हर साल बहुत बड़ी संख्या में पर्यटक इस देश में घूमने के लिए जाते है। चीनी लोग अपने काम के प्रति बहुत ज्यादा जागरूक है। इस देश की यात्रा करना बहुत ही अलग सा, ना भूल ने वाला अनुभव है। आइए आज हम बात करते है, चीन (China) देश के वीज़ा और पर्यटक स्थल के बारे में। 

वीज़ा (Visa):- चीन (China) का पर्यटक वीज़ा पाने के लिए भारतीय सैलानियों को पासपोर्ट, जिसके अवधि 6 महीने की हो। कम से कम दो खाली पेज पासपोर्ट के। दो पासपोर्ट साइज फोटो, सफ़ेद बैकग्राउंड के साथ। कन्फर्म एयर टिकट, कन्फर्म होटल बुकिंग। किसी ने आप को चीन आने का निमंत्रण दिया है तो, उस का पता और निमंत्रण पत्र, बैंक स्टेटमेंट साथ में हो। एक हफ्ते में वीज़ा आ जाता है।

चीन में पर्यटन स्थल (China Tourist place)


चीन की दीवार (Great wall of china)

चीन की दीवार अपनी लम्बाई के लिए दुनिया भर में प्रसिद्ध है। यह दुनिया की सब से लंबी दीवार है। इस दीवार को अंतरिक्ष से भी देखा जा सकता है। इसका नाम दुनिया के सात अजूबों में और विश्व धरोहर में शामिल है। यह चीन के खूबसूरत दृश्यों को देखने में मदद करती है। यह एक क़िले नुमा बनी दीवार है। इस दीवार को बनाने का मुख्य कारण विदेशी हमलावरों से खुद को बचाना था। इसे बनाने के लिए मिट्टी और पत्थर का इस्तेमाल किया गया है। इसको 5 वीं शताब्दी से ले कर 16 वीं शताब्दी तक बनाया गया है।


यह पढ़े:- सैक्स की सब से बड़ी मंडी इन देशो में लगती है।

शिआन टेरकोट्टा सेना (Xian's Terracotta Army)

चीन के शिआन में सेना के जवानों को दिखाने वाला दुनिया का सब से बड़ा ज़मीन के नीचे बना सेना का संग्रहालय है। इस संग्रहालय को किसानों ने खोजा था। यूनेस्को ने इस म्यूजियम को विश्व धरोहर में शामिल कर किया है। इस म्यूजियम को चार हिस्सों में विभाजित किया गया है। जिनके नाम रथ सैनिक, पैदल सैनिक, घोड़ा सवार सैनिक, और घोड़े है। यह बहुत ही विचित्र संग्रहालय है।


फोर्बिडन शहर (Forbidden city)

फॉरबिडन शहर बीजिंग में स्थित है। किसी समय यह शहर सिर्फ अमीर और शाही लोगो के लिए ही था। इस शहर में किसी भी ग़रीब या आम जनता को प्रवेश की अनुमति नहीं थी। यहाँ चीनी वास्तुकला का बहुत ही भव्य नमुना देखने को मिलता है। फॉरबिडन शहर में "द पैलेस म्यूज़ियम" है। यह 1911 मिंग और किंग राज़वंशों का शाही महल रहा है। इस महल की छत सुनहरी और 8000 से ज्यादा कमरे है। यह वाकई में बहुत ही खूबसूरत शहर है।

ली नदी, गुडलिन (Li river, Guilin)

ली नदी बहुत ही सुन्दर नदी है। यह नदी पहाड़ों के रास्ते होते हुए, चट्टानों को चीर कर गावों और खेतों में प्रवेश करती है। इस नदी के किनारे बांस के बहुत ज्यादा पेड़ है। गुडलिन से यांगशो तक यह नदी फैली हुई है। ली नदी का करीब 83 किलोमीटर है। यह नदी यहाँ के लोगो की कमाई का बहुत बड़ा साधन है।



यह देखे:- सैक्स के अजीबो गरीब कानूनों के बारे में जाने

पीला पहाड़ (Yellow Mountains)

चीन  (China) का पीला पहाड़ अपनी खूबसूरती के साथ आश्चर्यजनक बातों के लिए दुनिया भर में प्रसिद्ध है। इस पीले पहाड़ पर तीन राष्ट्रीय पार्क है। यह शंघाई और हांग्जो के क्षेत्र में फैला हुआ है। यहाँ पर चीड़ के पेड़, समुद्र, गर्म झरने स्थित है। वर्ष 1990 में यूनेस्को ने इसे विश्व धरोहर में शामिल कर लिया था। स्थानीय लोगो का कहना है कि इस स्थान पर येलो सम्राट रहा करते थे। येलो सम्राट के पास अलौकिक शक्तियां थी। 


वेस्ट झील, हांग्जो (West Lake, Hangzhou's)

चीन में हांग्जो को स्वर्ग की उपाधि दी गयी है। यह बहुत ही सुन्दर शहर है। कहा जाता है कि 13 वीं शताब्दी में मार्को पोलो ने हांग्जो को दुनिया का सब से सुन्दर शहर बताया था। यहाँ पर वेस्ट झील इसको सुंदरता को चार चाँद लगाने का कार्य कर रही है। इस झील पर पैगोडा और चीनी शैली के धनुष आकार में पुल बना हुआ है।


गोल्डन टेम्पल (Golden temple)

गोल्डन टेम्पल चीन मिंगफिंग हिल में स्थित है। चीनी लोगो की आस्था है कि यह मंदिर मानव को स्वर्ग तक ले जाने का रास्ता है। चीन में करीब 2000 वर्षो तक सामंती राजवंशों ने राज किया था। इस मंदिर की दीवारों पर उस समय के राजवंशों के चित्र देखने को मिलते है। इस मंदिर की दीवारों पर सोने की परतें चढ़ी हुई है। यह वाकई में बहुत ही बढ़िया अनुभव है।


बीइलिन बोगुगान (Beilin Bogugan)

बीइलिन बोगुगान चीन  (China) में संग्रहालय है। इसका पत्थर की मूर्तियों को इक्कठा करने के लिए निर्माण किया गया था। इसे 11 वीं सदी में बनाया गया था। बीइलिन बोगुगान को स्टीले वन के नाम से भी जाना जाता है।


यह देखे:- ट्रैवल इंसोरेंस करवाने के लिए यहाँ पर क्लिक करे 

फामेन टेम्पल (Famen temple)

फामेन टेम्पल का सम्बन्ध जिगगुरात के पूर्वजों से बताया जाता है। यह टेम्पल शियान से 120 किलोमीटर की दूरी पर फुफेन्ग काउंटी के फामेन शहर में स्थित है। इस मंदिर का निर्माण या हान राजवंश या नॉर्टन झोउ राजवंश के द्वारा करवाया गया है। इस मंदिर को विशेष रूप से बौद्ध धर्म के लिए जाना जाता है। यहाँ हर साल बहुत बड़ी संख्या में लोग घूमने के लिए आते है।

मुझे उम्मीद है की आप को मेरा यह लेख पसंद आया होगा। कृपया अपने विचार अवश्य दे। धन्यवाद।

मनिंदर सिंह "मनी"

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

कृपया कमेंट बॉक्स में कोई भी स्पैम लिंक न डालें।