ओपेरा हाउस, सिडनी के बारे में जानकारी




ऑस्ट्रेलिआ बहुत ही सुंदर देश है। इस देश में सैलानियों के घूमने के लिए बहुत बड़ी संख्या में पर्यटक स्थल है। हर साल बहुत बड़ी संख्या में लोग इस देश में घूमने के लिए आते है। यहाँ सिडनी शहर में ओपेरा हाउस (Opera House) नाम की इमारत है। यह अपनी सुंदरता के लिए दुनिया भर में प्रसिद्ध है। आइए आज बात करते है, ओपेरा हाउस के बारे में विस्तार से।



ओपेरा हाउस का इतिहास (History Opera House)



हर साल बहुत बड़ी संख्या में पर्यटक ओपेरा हाउस देखने के लिए सिडनी आते है। इस इमारत का निर्माण वर्ष 1973 में हुआ था। इसका निर्माण विश्व प्रसिद्ध वास्तुकार जॉन उत्ज़ॉन ने किया था। इस की वास्तु शैली को देख कर हर कोई आनंद से भर जाता है। ओपेरा हाउस को वर्ष 2007 में यूनेस्को ने विश्व धरोहर में शामिल किया हुआ है। इसकी छत कंक्रीट से फ्रेम और प्रीकास्ट कंक्रीट से रिब्ड की गयी है। इसको बनाने के लिए 10000 मज़दूरों ने काम किया था। एलिज़ाबेथ सेकंड रानी ने इस हाउस को आम जनता के लिए 20 अक्टूबर 1973 को आम लोगो के लिए खोला था। हर साल बहुत बड़े स्तर पर लूनर न्यू ईयर मनाया जाता है। ओपेरा हाउस को बनाने में 4 साल का समय सोचा गया था लेकिन इसे बनाने में 14 साल का समय लग गया था।





यह देखे :- स्पेन के पर्यटक स्थल के बारे में जाने 



ओपेरा हाउस में क्या क्या है? (What's in the opera house?)


ओपेरा हाउस में सैलानियों के देखने के लिए बहुत कुछ है। यह बहुत ही सुन्दर और आकर्षक इमारत है। इसमें तीन सिनेमा घर, ड्रामा थिएटर, प्लेहाउस, स्टूडियो स्थित है। यहाँ पर पर्यटक ड्रामा देखने के लिए बहुत बड़ी संख्या में जाते है। इस हाउस के कुछ हिस्सों में ही सैलानियों को जाने की अनुमति है। यहाँ पर कॉन्सर्ट हॉल पर्यटकों की मुख्य मांग में से एक है। कॉन्सर्ट हॉल में एक साथ करीब 2700 लोगो के बैठने की जगह है। इसकी सब से बड़ी ख़ासियत है कि इस हॉल में बैठने वाले दर्शक बाहरी नज़ारे भी देख सकते है।



बच्चों के लिए खास (Special for children)



यहाँ बच्चों को लुभाने के लिए बहुत सारी सुविधाएँ है। हर बच्चा इस में घूमने के आतुर रहता है। ओपेरा हाउस में बच्चों के लिए नाटक, नृत्य, हंसी मज़ाक भरे शो हर साल बच्चों के लिए आयोजित किये जाते है।इस हाउस में कई प्रकार के और भी कार्यक्रम आयोजित किये जाते है। हर साल बहुत बड़ी संख्या में बच्चे भी घूमने के लिए आते है। यह बच्चों कि खास पसंद में से एक है।



ओपेरा हाउस के आसपास घूमने वाले स्थान (Opera house near visiting places)





डार्लिंग हार्बर (Darling Harbour)

डार्लिंग हार्बर के एलजी थिएटर में दुनिया की सब से बड़ी स्क्रीन स्थापित है। यह सैलानियों की पहली पसंद में है। हार्बर में ख़रीददारी करने का अपना ही मज़ा है। बच्चों के लिए बहुत ही सुंदर पार्क बना हुआ है। इस पार्क में झूले और खेलने के लिए बहुत जगह है। इसे हैंग आउट के लिए विशेष रूप से जाना जाता है।



हार्बर ब्रिज (Harber Bridge)



वर्ष 1932 में हार्बर ब्रिज को बनाया गया। यह दुनिया का सब से लंबा स्टील से बना पुल है। इसकी लम्बाई 1149 मीटर है। यह पुल बहुत ही सुन्दर और आकर्षक है। हर दिन बहुत बड़ी संख्या में लोग इस पुल का उपयोग करते है। यहाँ से दूर दूर के दृश्य बहुत ही सुन्दर दिखाई देते है। लोग अक्सर यहाँ पर अपनी फोटो खींचने के लिए रुक जाते है।




रॉयल बायोटेक्निकल गार्डन (Royal Bio technical garden)



रॉयल बायोटेक्निकल गार्डन का निर्माण वर्ष 1816 में हुआ था। परिवार के साथ घूमने के लिए यह बहुत ही बढ़िया स्थान है। लोग अक्सर यहाँ पर पिकनिक मनाने के लिए आते है। यहाँ पर कई प्रकार के पेड़ पौधे है। इस गार्डन में फूलों की महक सैलानियों के आनंद से भर देती है। यह विभिन्न प्रकार के जीवों के जाना जाता है। यहाँ पर लोग बच्चों के साथ घूमना बहुत ज्यादा पसंद करते है।




हाइड पार्क (Hyde park)



पहले विश्व युद्ध के दौरान हाइड पार्क का निर्माण किया गया था। यह बहुत ही सुन्दर और आकर्षक पार्क है। इस पार्क को युद्ध में हिस्सा लेने वाले लोगो के लिए बनाया गया था। हाइड पार्क को ऐतिहासिक स्थान के रूप में जाना जाता है। यहाँ बहुत ही सुन्दर फूल और पेड़ है। स्थानीय लोग हर दिन बहुत बड़ी संख्या में घूमने के लिए आते है।




बोंडी बीच (Bondi beach)



जिन पर्यटकों को सिडनी में कुछ समय शांति के साथ बिताना हो, उन लोगो के लिए बोंडी बीच बहुत ही बढ़िया स्थान है। यह समुद्री तट सैलानियों की पहली पसंद में शामिल है। लोग इस तट पर तैराकी करना बहुत ज्यादा पसंद करते है। यहाँ पर घूमना दिल को बहुत ज्यादा अच्छा लगता है।



यह देखे:- ट्रैवल इंसोरेंस करवाने के लिए यहाँ पर क्लिक करे 



सिडनी टावर (Sydney Tower)



वर्ष 1981 में सिडनी टावर का निर्माण किया गया था। यह सिडनी की सब से ऊंची इमारतों में से एक है। इस टावर को देखने के लिए हर साल बहुत बड़ी संख्या में लोग आते है। इस टावर में ख़रीददारी करने के लिए बाजार और खाने पीने के लिए रेस्त्रां शामिल है। यह घूमने के लिए बहुत ही बढ़िया स्थान है।




तारोंगा चिड़िया घर (Taronga zoo)



तारोंगा चिड़िया घर बहुत ही विशाल है। हर साल बहुत बड़ी संख्या में लोग घूमने के लिए आते है। इसमें करीब 4000 के जानवर देखे जा सकते है। यहाँ पर बहुत ज्यादा किस्मों के साँप देखने को मिलते है।

जानवरों से प्यार करने वाले लोगो के लिए यह बहुत बढ़िया स्थान है।



क्वीन विक्टोरिया बिल्डिंग (Queen Victoria building)


क्वीन विक्टोरिया बिल्डिंग का निर्माण 19 वीं सदी के आस पास हुआ था। यह ऐतिहासिक इमारत बहुत ही पुरानी है। यहाँ लोग ख़रीददारी करने के लिए आते है। यह बहुत ही सुन्दर इमारत है। यहाँ पर हर दिन लोग बहुत बड़ी संख्या में आते है। इस इमारत की वास्तुकला देखने वाली है।


मुझे उम्मीद है कि आप को मेरा यह लेख पसंद आएगा। कृपया अपने विचार अवश्य दे। धन्यवाद।



Maninder Singh "Mani"

स्पेन (Spain) देश के पर्यटन स्थल, कुछ रोचक बातों के बारे में।




दुनिया के खूबसूरत देशों में स्पेन (Spain) का नाम भी आता है। अमेरिका की खोज करने के बाद क्रिस्टोफर कोलंबस ने स्पेन देश की खोज की थी। कहा जाता है कि इसका इतिहास लगभग 1000 ईसा पूर्व का है। मुसलिम लोगों की तादाद इस देश में सब से ज्यादा है। आइए आज बात करते है स्पेन देश के पर्यटन स्थल और इसकी कुछ रोचक बातों (Amazing facts) के बारे में।



बार्सिलोना (Barcelona)

बार्सिलोना स्पेन (Spain) देश का बहुत ही सुन्दर शहर है। पर्यटक इस शहर को स्पेन का स्वर्ग भी कहते है। चॉकलेट का उत्पादन बहुत ही बड़े स्तर पर किया जाता है। बार्सिलोना एक व्यापारिक शहर है। पर्यटकों के लिए यहाँ पर गगनचुम्भी, ऐतिहासिक इमारतों के साथ साथ महल भी है। जो यहाँ आने वाले लोगों को दीवाना बना लेती है। बार्सिलोना के रेस्त्रां की बात ही अलग है। आपको हर प्रकार का स्वाद यहाँ पर खाने को मिल जायेगा।



ग्रेनाडा (Granada)

नाइट लाइफ, स्कीइंग और ट्रैकिंग का शौक रखने वाले लोगो के ग्रेनाडा बहुत ही बढ़िया जगह है। ग्रेनाडा में सांस्कृतिक कार्यक्रम अक्सर होते ही रहते है। यह सांस्कृतिक कार्यक्रम पर्यटकों को अपने और खुद बा खुद ही खींच लेते है। ग्रेनेडा शहर की सुंदरता पूरी दुनिया में मशहूर है। यहाँ ऐतिहासिक इमारतें इस शहर में बहुत बड़ी संख्या में है।





मेड्रिड (Madrid)


स्पेन (Spain) की राजधानी का नाम मेड्रिड है। दुनिया की सब से पुरानी नाइट लाइफ के लिए जाने जाना वाला शहर है। नाइट लाइफ लोगों का मुख्य आकर्षण है। मेड्रिड को संस्कृति और कला का मुख्य स्थान कहा जाता है। इस शहर को देखने के लिए कला प्रेमी बहुत बड़ी संख्या में यहाँ पर आते है। शांति पसंद लोगों के लिए बहुत ही बढ़िया जगह है। विश्व पर्यावरण संगठन का मुख्यालय भी मेड्रिड में स्थित है।



सेविल्ले (Seville)

सेविल्ले (Seville) शहर की असल खूबसूरती देखने का बढ़िया स्थान गुआडलकुईविर नदी का तट है। बुल फाइटिंग (Bullfighting) के लिए यह शहर बहुत ज्यादा मशहूर है। बुल फाइटिंग स्पेन देश का राष्ट्रीय त्यौहार है। सेविल्ले स्पेन (Spain) के अंदालुका क्षेत्र में स्थित है। नाइट लाइफ (Nightlife) यहाँ पर भी बहुत रंगीन होती है। स्पेन की संस्कृति मुख्य रूप से दिखाने वाला शहर है।



इबिज़ा (Ibiza)

इबिज़ा (Ibiza) एक द्वीप है। यह द्वीप बेलिएरिक द्वीप समूह में शामिल है। इबिज़ा बहुत ही मनोहर और प्रसिद्ध द्वीप है। इस द्वीप पर यूरोप में सब से ज्यादा पार्टियों का आयोजन किया जाता है। पर्यटक यहाँ पर ज्यादा नाइट लाइफ़ (Night life) का ही आनंद लेने के लिए आते है।




कैनरी आइलैंड (Canary Islands)

कैनरी आइलैंड (Canary Islands) हनीमून (Honeymoon) मनाने वाले लोगों के लिए बहुत ही बढ़िया जगह है। यहाँ का समुद्री सुन्दर वातावरण लोगो को खुद बा खुद रोमांटिक (Romantic) कर देता है। इस द्वीप के आसपास बहुत ज्यादा ग्रामीण नज़ारा देखने को मिलता है। ग्रामीण क्षेत्र पुरानी स्पेन की संस्कृति को संभाले हुए है। कैनरी आइलैंड में आने वाले लोग यहाँ की प्राचीन कला और दृश्यों को देखते ही रह जाते है।



टेनेरीफ (Tenerife)

टेनेरीफ (Tenerife) बहुत ही बड़ा द्वीप है। इस द्वीप पर आप को ज्वालामुखी, पहाड़, जंगल के साथ बहुत सारे समुद्री तट भी देखने को मिलेंगे। टेनेरीफ के अद्भुत नज़ारे लोगों के दिलो में जिंदगी में भर के लिए बस जाते है। ब्रिटिश और जर्मनी के लोगों की भीड़ सब से ज्यादा यहाँ पर देखने को मिलती है। समुद्र के किनारे ठंडी ठंडी हवा के झोंके शरीर को ताज़गी से भर देते है।





मजोराका (Majorca)

धुप को पसंद करने वाले पर्यटकों का सब से अच्छा स्थान मजोराका (Majorca) है। मजोराका का वातावरण पर्यटकों को शानदार अनुभव प्रदान करता है। जंगली जानवर, वन, पहाड़ियाँ देखने के लिए पर्यटकों को जीवन में एक बार यहाँ पर ज़रूर आना चाहिए। धुप पड़ने से समुद्री तट ऐसे प्रतीत होते है जैसे पानी नहीं मोती चमक रहे हो। मजोराका में वाकई बहुत ही सुन्दर नज़ारे देखने को मिलते है।



मलगा (Malaga)

ऐतिहासिक और सांस्कृतिक शहर के नाम से जाने जाना वाला शहर मलगा (Malaga) है। मलगा शहर सेविल्ल, ग्रेनेडा और कॉरडोबा के बीच में स्थित है। महान कलाकार पाब्लो पिकासो का जन्म मलगा शहर में हुआ था। सांस्कृतिक और कला प्रेमी लोगों के बहुत बढ़िया जगह है घूमने के लिए।



अल्हाम्ब्रा (Alhambra)

अल्हाम्ब्रा (Alhambra) ग्रेनेडा शहर के पथरी भाग पर स्थित है। अल्हाम्ब्रा बहुत ही सुन्दर महल होने के साथ एक किला भी है। इस महल नुमा क़िले का निर्माण 14 वी शताब्दी के नासरी सुल्तानों के द्वारा किया गया था। इस को देखने के लिए लोग देश विदेश से यहाँ पर आते है। स्पेन के पर्यटन स्थलों में से यह एक है।




स्पेन त्यौहार (Spain festival)

स्पेन (Spain) देश के लोग हर साल बहुत सारे त्यौहारों को मनाते है। इस देश के त्यौहार पूरी दुनिया में प्रसिद्ध है। सब से ज्यादा प्रसिद्ध त्यौहार टोमाटीना (Tomatina) है। टोमाटीना (Tomatina) में लोग एक दूसरे के ऊपर टमाटर फेंकते है। यह त्यौहार बहुत बड़े स्तर पर मनाया जाता है। लास फैसल डी वालेंसिया जो (फेस्टिवल ऑफ़ फेयर के नाम से जाना जाता), फेरिआ डी अब्रील (Feria di abril), फेरिआ डेल कैबलो, फेरिआ डी मालगा, सेमाना सांता, सैन फ़ेर्मिन त्यौहार भी मनाए जाते है। यह त्यौहार पर्यटकों को बहुत ज्यादा आनंद से भर देते है।





स्पेन अजीब तथ्य (Spain amazing facts) 


स्पेन देश में आप को अगर नंगा हो कर घूमना है तो, आप बड़े मजे से घूम सकते है। नंगे घूमने पर यहाँ का कानून आप को सजा नहीं देता है। इस देश का राष्ट्रीय पशु सांड है। बुल फाइटिंग का पूरी दुनिया में सबसे बड़ा केंद्र है। दुनिया का करीब 43% ओलिव आयल इस देश में बनाया जाता है। शाही परिवार की कोई अगर बुराई कर देता है तो उसको 2 साल की सज़ा दी जाती है। दुनिया के सब से बड़े फुट बॉल के क्लब इस देश में बने है। स्पेन (Spain)की मुख्य भाषा स्पेनिश है।

चीन का वीज़ा कैसे ले? और घूमने वाले पर्यटक स्थानों के बारे में जानकारी

दुनिया में सब से ज्यादा आबादी चीन (China) देश की है। चीन देश की गिनती दुनिया के सब से समृद्ध देशों में जाती है। यह देश प्राकृतिक और सांस्कृतिक कार्यक्रमों के लिए प्रसिद्ध है। इस देश के अकेले 47 पर्यटन स्थल विश्व धरोहर में शामिल किये गए है। हर साल बहुत बड़ी संख्या में पर्यटक इस देश में घूमने के लिए जाते है। चीनी लोग अपने काम के प्रति बहुत ज्यादा जागरूक है। इस देश की यात्रा करना बहुत ही अलग सा, ना भूल ने वाला अनुभव है। आइए आज हम बात करते है, चीन (China) देश के वीज़ा और पर्यटक स्थल के बारे में। 

वीज़ा (Visa):- चीन (China) का पर्यटक वीज़ा पाने के लिए भारतीय सैलानियों को पासपोर्ट, जिसके अवधि 6 महीने की हो। कम से कम दो खाली पेज पासपोर्ट के। दो पासपोर्ट साइज फोटो, सफ़ेद बैकग्राउंड के साथ। कन्फर्म एयर टिकट, कन्फर्म होटल बुकिंग। किसी ने आप को चीन आने का निमंत्रण दिया है तो, उस का पता और निमंत्रण पत्र, बैंक स्टेटमेंट साथ में हो। एक हफ्ते में वीज़ा आ जाता है।

चीन में पर्यटन स्थल (China Tourist place)




चीन की दीवार (Great wall of china)

चीन की दीवार अपनी लम्बाई के लिए दुनिया भर में प्रसिद्ध है। यह दुनिया की सब से लंबी दीवार है। इस दीवार को अंतरिक्ष से भी देखा जा सकता है। इसका नाम दुनिया के सात अजूबों में और विश्व धरोहर में शामिल है। यह चीन के खूबसूरत दृश्यों को देखने में मदद करती है। यह एक क़िले नुमा बनी दीवार है। इस दीवार को बनाने का मुख्य कारण विदेशी हमलावरों से खुद को बचाना था। इसे बनाने के लिए मिट्टी और पत्थर का इस्तेमाल किया गया है। इसको 5 वीं शताब्दी से ले कर 16 वीं शताब्दी तक बनाया गया है।


यह पढ़े:- सैक्स की सब से बड़ी मंडी इन देशो में लगती है।

शिआन टेरकोट्टा सेना (Xian's Terracotta Army)

चीन के शिआन में सेना के जवानों को दिखाने वाला दुनिया का सब से बड़ा ज़मीन के नीचे बना सेना का संग्रहालय है। इस संग्रहालय को किसानों ने खोजा था। यूनेस्को ने इस म्यूजियम को विश्व धरोहर में शामिल कर किया है। इस म्यूजियम को चार हिस्सों में विभाजित किया गया है। जिनके नाम रथ सैनिक, पैदल सैनिक, घोड़ा सवार सैनिक, और घोड़े है। यह बहुत ही विचित्र संग्रहालय है।


फोर्बिडन शहर (Forbidden city)

फॉरबिडन शहर बीजिंग में स्थित है। किसी समय यह शहर सिर्फ अमीर और शाही लोगो के लिए ही था। इस शहर में किसी भी ग़रीब या आम जनता को प्रवेश की अनुमति नहीं थी। यहाँ चीनी वास्तुकला का बहुत ही भव्य नमुना देखने को मिलता है। फॉरबिडन शहर में "द पैलेस म्यूज़ियम" है। यह 1911 मिंग और किंग राज़वंशों का शाही महल रहा है। इस महल की छत सुनहरी और 8000 से ज्यादा कमरे है। यह वाकई में बहुत ही खूबसूरत शहर है।

ली नदी, गुडलिन (Li river, Guilin)

ली नदी बहुत ही सुन्दर नदी है। यह नदी पहाड़ों के रास्ते होते हुए, चट्टानों को चीर कर गावों और खेतों में प्रवेश करती है। इस नदी के किनारे बांस के बहुत ज्यादा पेड़ है। गुडलिन से यांगशो तक यह नदी फैली हुई है। ली नदी का करीब 83 किलोमीटर है। यह नदी यहाँ के लोगो की कमाई का बहुत बड़ा साधन है।



यह देखे:- सैक्स के अजीबो गरीब कानूनों के बारे में जाने

पीला पहाड़ (Yellow Mountains)

चीन  (China) का पीला पहाड़ अपनी खूबसूरती के साथ आश्चर्यजनक बातों के लिए दुनिया भर में प्रसिद्ध है। इस पीले पहाड़ पर तीन राष्ट्रीय पार्क है। यह शंघाई और हांग्जो के क्षेत्र में फैला हुआ है। यहाँ पर चीड़ के पेड़, समुद्र, गर्म झरने स्थित है। वर्ष 1990 में यूनेस्को ने इसे विश्व धरोहर में शामिल कर लिया था। स्थानीय लोगो का कहना है कि इस स्थान पर येलो सम्राट रहा करते थे। येलो सम्राट के पास अलौकिक शक्तियां थी। 


वेस्ट झील, हांग्जो (West Lake, Hangzhou's)

चीन में हांग्जो को स्वर्ग की उपाधि दी गयी है। यह बहुत ही सुन्दर शहर है। कहा जाता है कि 13 वीं शताब्दी में मार्को पोलो ने हांग्जो को दुनिया का सब से सुन्दर शहर बताया था। यहाँ पर वेस्ट झील इसको सुंदरता को चार चाँद लगाने का कार्य कर रही है। इस झील पर पैगोडा और चीनी शैली के धनुष आकार में पुल बना हुआ है।


गोल्डन टेम्पल (Golden temple)

गोल्डन टेम्पल चीन मिंगफिंग हिल में स्थित है। चीनी लोगो की आस्था है कि यह मंदिर मानव को स्वर्ग तक ले जाने का रास्ता है। चीन में करीब 2000 वर्षो तक सामंती राजवंशों ने राज किया था। इस मंदिर की दीवारों पर उस समय के राजवंशों के चित्र देखने को मिलते है। इस मंदिर की दीवारों पर सोने की परतें चढ़ी हुई है। यह वाकई में बहुत ही बढ़िया अनुभव है।


बीइलिन बोगुगान (Beilin Bogugan)

बीइलिन बोगुगान चीन  (China) में संग्रहालय है। इसका पत्थर की मूर्तियों को इक्कठा करने के लिए निर्माण किया गया था। इसे 11 वीं सदी में बनाया गया था। बीइलिन बोगुगान को स्टीले वन के नाम से भी जाना जाता है।


यह देखे:- ट्रैवल इंसोरेंस करवाने के लिए यहाँ पर क्लिक करे 

फामेन टेम्पल (Famen temple)

फामेन टेम्पल का सम्बन्ध जिगगुरात के पूर्वजों से बताया जाता है। यह टेम्पल शियान से 120 किलोमीटर की दूरी पर फुफेन्ग काउंटी के फामेन शहर में स्थित है। इस मंदिर का निर्माण या हान राजवंश या नॉर्टन झोउ राजवंश के द्वारा करवाया गया है। इस मंदिर को विशेष रूप से बौद्ध धर्म के लिए जाना जाता है। यहाँ हर साल बहुत बड़ी संख्या में लोग घूमने के लिए आते है।

मुझे उम्मीद है की आप को मेरा यह लेख पसंद आया होगा। कृपया अपने विचार अवश्य दे। धन्यवाद।

मनिंदर सिंह "मनी"

कज़ाकिस्तान के वीज़ा और पर्यटन स्थलों के बारे में जानकारी (Information about visas and tourist destinations of Kazakhstan)

कज़ाकिस्तान (Kazakhstan) एक बहुत ही सुन्दर मुस्लिम देश है। यहाँ दिन के समय गर्मी और रात को ठंडा मौसम होता है। यहाँ सैलानियों को पहाड़ी, नदियां, हर भरे घास के मैदान देखने को मिलेंगे। यह देश एशिया के सब से सुन्दर देशों में गिना जाता है। आइए आज हम बात करते है, कज़ाकिस्तान (Kazakhstan) के वीज़ा और पर्यटन स्थलों के बारे में।

वीज़ा (Visa):- कज़ाकिस्तान (Kazakhstan) देश भारतीय लोगो को इ- वीज़ा की सुविधा भी प्रदान करता है। इस देश का वीज़ा आवेदन के 5 दिनों के बाद मिल जाता है। वीज़ा के लेने के लिए पासपोर्ट की शेष अवधि कम से कम 6 महीने की ज़रूर हो। पासपोर्ट में कम से कम दो पेज ज़रूर खाली हो। किसी प्रकार की पासपोर्ट के साथ छेड़ छाड़ ना की गयी हो।

इस देश का वीज़ा पाने के लिए सैलानियों को निमंत्रण पत्र चाहिए। जो इस देश के किसी भी ट्रैवल एजेंसी से या होटल बुकिंग के द्वारा प्राप्त किया जा सकता है। होटल बुकिंग और वापसी की एयर टिकट कन्फर्म हो तो तो सब से बढ़िया है। इस देश की मुद्रा भारत की मुद्रा से काफी कमजोर है। इस देश में भारतीय लोग कम पैसे में बहुत बढ़िया घूम सकते है। वीज़ा भारतीय लोगो के लिए 60 डॉलर है।

यह देखे:- यहाँ से कजाकिस्तान के इ वीजा का आवेदन करे 

कज़ाकिस्तान में घूमने वाले स्थान (Kazakhstan tourist places)




स्वर्गारोहण कैथेड्रल (Ascension Cathedral)


स्वर्गारोहण कैथेड्रल अलमाटी के पानफिलोव पार्क में स्थित है। इसे 20 वीं सदी में बनाया गया था। इस इमारत में रुसी कला की झलक दिखाई देती है। यह दुनिया की सब से बड़ी लकड़ी से बनी इमारत है। इसमें प्रवेश के लिए, महिलाओं को स्कार्फ़ से सिर ढँकना और पुरुषों को नंगे सिर जाने की इजाजत है।  यह बहुत ही सुन्दर चर्च है। जिसे देखने के लिए बहुत बड़ी संख्या में पर्यटक आते है।




श्यामबुलक पर्वत (Shymbulak parvat)

जिन पर्यटकों को प्राकृतिक दृश्य देखना पसंद है, उनके लिए श्यामबुलक पर्वत बहुत बढ़िया स्थान है। यहाँ चारों तरफ शांति ही शांति है। इस स्थान पर अक्सर लैंडस्केप होते ही रहते है। यहाँ के पहाड़ी दृश्य देख कर हर किसी का मन आनंद से भर जाता है। इस स्थान पर डस्टीक एवेन्यू से केबल कार ले कर पहुंचा जा सकता है।

यह देखे:- कजाकिस्तान में सस्ते होटल यहाँ से बुक करे 




चैरियन कैन्यन (Cherian canyon)

चैरियन कैन्यन बहुत ही सुन्दर स्थान है। यह अल्माटी से करीब 215 किलोमीटर दूर है। यहाँ पर आने के लिए ए 351 और ए 352 हाईवे से 4 घंटे की ड्राइव के द्वारा ही पहुंचा जा सकता है। पर्यटकों के लिए बहुत सी आकर्षक घाटी है।




अल्माटी झील (Almaty lake)

अल्माटी झील बहुत ही सुंदर है। इस झील से लोगो को पीने का पानी मिलता है। झील के आस पास के नज़ारे देख कर हर कोई आनंद से भर जाता है। इस झील की अल्माटी से दूरी करीब 30 किलोमीटर की है।




पैनफिलोव के 28 गार्डमैन (Panfilov guards 28)

कजाकिस्तान (Kazakhstan) देश को आज़ाद रखने के लिए 28 गार्ड्स ने अपनी जान को को देश के लिए न्यौछावर कर दिया था। जिनके बलिदान को याद रखने के लिए अल्माटी के पैनफिलोव गार्डन में उनकी प्रतिमाएं लगाई गयी है। यह वाकई में अपने आप में बहुत बढ़िया अनुभव है।




कोक-टोबे पहाड़ी (Kok tobe pahari)

कोक टोबे पहाड़ी अपनी सुंदरता के लिए सारे कज़ाकिस्तान में प्रसिद्ध है। इस पहाड़ी को केबल कार से घूमने पर ज्यादा मज़ा आता है। इस केबल कार की टिकट आने जाने की 2000 टेन है। एक भारतीय रुपया 5 .30 टेन के बराबर होता है। इस केबल कार से पर्यटक पहाड़ी के नज़ारे के साथ, छोटा सा चिड़ियाघर, स्थानीय छोटी छोटी दुकानें आदि देख सकते है।

यह पढ़े:- अमेरिका के सुन्दर शहर लॉस वेगास के बारे में जानिए



सेंट्रल मार्केट (Central market)

सेंट्रल मार्केट अल्माटी का बहुत ही सुंदर बाजार है। यहाँ से मेवे, कपड़े और रोज़मर्रा का सामान बहुत बढ़िया और सस्ते दाम में मिल जाता है। यहाँ लोगो की काफी भीड़ देखी जा सकती है।



बाय्टरेक मीनार (Bayterek tower)

कज़ाकिस्तान (Kazakhstan) की राजधानी नूर सुल्तान में बाय्टरेक मीनार स्थित है। यह मीनार बहुत ही सुंदर और आकर्षक है। पर्यटक इसे सुबह 10 बजे से रात 9 बजे तक देख सकते है। यह 97 मीटर ऊंची इमारत है।



आइलैंड फेरिस व्हील (Island ferris wheel)

आइलैंड फेरिस व्हील बहुत ही ऊंचा झूला है। इसमें 36 केबिन बनाए गए है। एक केबिन के अंदर करीब 6 लोग बैठ सकते है। इस झूले से नूर सुल्तान शहर का बहुत ही सुन्दर दृश्य दिखाई देता है।




सिंगिंग फाउंटेन (Singing fountain)

सिंगिंग फाउंटेन बहुत बढ़िया स्थान है। यह पर्यटकों के लिए 24 घंटे खुला रहता है। यहाँ पानी की लहरों के साथ संगीत चलाया जाता है। यह बहुत ही बढ़िया दृश्य पेश करता है।


यह पढ़े:- स्पेन के पर्यटन स्थल और अजीब तथ्यों के बारे में जाने



मौसोलेउँ ऑफ़ खोजा अहमद एसवी (Moseley khawaja ahmad)

मौसोलेउँ ऑफ़ खोजा अहमद एसवी ख्वाजा अहमद यासवी का मकबरा है। ख्वाजा अहमद यासवी एक फ़क़ीर और तुर्क के कवि थे। जिन्होंने समाज को सुधारने के लिए बहुत कोशिश की थी। इस मक़बरे का निर्माण 1389 में तैमूर के द्वारा करवाया गया था। यह मकबरा तुर्कमिनिस्तान में स्थित है।



अल्टीन-ईमेल नेशनल पार्क (Altyn-Emel National park)

अल्टीन-ईमेल नेशनल पार्क इली घाटी में स्थित है। यहाँ पर प्राकृतिक रेगिस्तान, पहाड़, और अलग अलग प्रकार की वनस्पतियां स्थित है। इसे यूनेस्को के विश्व धरोहर में शामिल किया हुआ है। यह सैलानियों के लिए बहुत बढ़िया स्थान है।

मुझे उम्मीद है कि आप को मेरा यह लेख ज़रूर पसंद आया होगा। कृपया अपने विचार अवश्य दे। धन्यवाद।

मनिंदर सिंह "मनी"

हज यात्रा कहाँ और कैसे करने जाए? हज यात्रा के लिए दस्तावेज़ और कितना खर्च?

मुस्लिम धर्म में मक्का (Mecca) को सब से ज्यादा पवित्र स्थान माना गया है। मक्का सऊदी अरब (Saudi Arab) देश में स्थित है। हर साल मुस्लिम धर्म के लोग हज करने के लिए इस स्थान पर आते है। कहा जाता है कि मुसलमानों के लिए जीवन में एक बार हज यात्रा बहुत जरूरी है। आइए जानते है, हज यात्रा के बारे में विस्तार में। 

हज यात्रा क्या है? (What is Haj pilgrimage?) 

हज यात्रा मक्का (Mecca) में हर साल मुस्लिम लोगो का एक साथ इकट्ठा होना, और काबा की तरफ मुँह करके नमाज़ को पढ़ना होता है। काबा को बहुत ही पवित्र माना जाता है। हज यात्रा में कई तरह की रस्में होती है, जिनको पूरा करना होता है। इस यात्रा के लिए जो शारीरिक और आर्थिक रूप से ठीक हो, उसे इस्ति'ताह और जो हज पूरा करे, उसे मुस्ताती कहा जाता है। इस समय इतने लोगो का एक साथ इकट्ठा होना, अल्लाह के प्रति विश्वास नज़र आता है।

शैतान को पत्थर मारने वाली रस्म सफा और मरवा दो पहाड़ियों के बीच सात चक्कर लगाने होते है। इन चक्करों के बाद लोग मीना नाम की जगह पर जा कर, नमाज़ पड़ते है। हज यात्री अगले दिन एक बड़े मैदान में इकट्ठे हो कर अल्लाह से दुआ मांगते है। यह अराफात नाम की जगह है। इस यात्रा के अंतिम भाग में लोग 7 छोटे छोटे कंकड़ शैतान रूपी तीन खम्बों पर मारते है। इसे रमीजमारात कहा जाता है।




इस यात्रा के दौरान लोगो को विशेष प्रकार के कपड़े पहनने होते है। ईद उल-अधा वाले दिन बकरे की बलि दी जाती है। यह यात्रा इस्लामिक जिलहिज के महीने में की जाती है। जो लोग सरकारी कोटे से हज जाते है, उनके लिए यह पैकेज 40 से 50 दिन का होता है। इस में एयर टिकट पर सब्सिडी सरकार के द्वारा दी जाती है।

यह पढ़े:- कैलाश मानसरोवर की यात्रा की जानकारी

हज यात्रा की की शुरुआत (Beginning of Haj pilgrimage)

आज से हजारों साल पहले अल्लाह ने इब्राहिम (Ibrahim) से उसकी दो पसंदीदा चीज़े मांगी। जिसमें इब्राहिम का एक लड़का था। लड़के का नाम इस्माइल (Ismail) था। इस्माइल (Ismail) का जन्म बड़ी मुश्किल के बाद हुआ था। जिसे इब्राहिम बहुत ज्यादा प्यार करता था। किसी भी हालत में वह उसको अपने से दूर नहीं करता था। जब अल्लाह का हुक्म हुआ तो वह उसकी कुर्बानी देने के लिए तैयार हो गया।

इब्राहिम (Ibrahim) अपने बेटे को ले कर चल पड़ा। एक शैतान ने इब्राहिम का रास्ता रोक कर, उसे अपने बेटे की बलि देने से रोका था। जिस की बातें सुनकर एक बार तो इब्राहिम ख़ुदा की बात की नज़र अंदाज़ करने की कोशिश करने लगा। कुछ समय के बाद उसे अपनी ग़लती का अहसास हुआ, वह अपने बेटे की बलि देने के लिए चल पड़ा। उसने अपनी आँखों पर पट्टी बाँधी और अपने बेटे की गरदन पर तलवार चला दी। जब इब्राहिम  (Ibrahim) ने अपनी आँखों से पट्टी खोली तो उसने अपने बेटे इस्माइल (Ismail) को अपने सामने मुस्कुराते हुआ पाया। इब्राहिम ने जिसकी बलि दी थी वह एक बकरा था। जिसके बाद से हर साल बकरे की बलि दी जाने लगी। इस स्थान पर उस शैतान को सजा दी जाती है।


कौन से मुसलमान हज नहीं कर सकते? (Which Muslims cannot perform Haj?)

मुसलमान भी हिंदुओं की तरह कई जात और फ़िरक़ों में बटें हुए है। इनमें अहमदिया मुस्लिम लोगो को हज करने की इजाज़त नहीं है। किसी अहमदिया मुसलमान को चोरी हज यात्रा में शामिल होते, पकड़ लिया जाता है, तो उसे उसी समय उसके देश भेज दिया जाता है। अहमदिया मुसलमान हनफ़ी इस्लाम का पालन करते है।

यह पढ़े:- जेरूसलम (यीशु मसीह जन्म स्थान), इजरायल पर्यटन स्थलों की जानकारी

हज यात्रा ख़र्चा (Haj Travel expenses)

हज यात्रा मक्का (Makkah) के दौरान करीब दो लाख से ढाई लाख के बीच में खर्च आता है। इसमें वीज़ा फ़ीस, रहने का खर्च, एयर टिकट सब कुछ शामिल होता है। यह पैकेज करीब 40 से 45 दिन का होता है। इसमें एयर टिकट पर यात्रियों को सब्सिडी भी दी जाती है।


ज़रूरी दस्तावेज़ (Required documents)

मक्का (Mecca) हज यात्री के पास वीज़ा, पासपोर्ट होना बहुत ज़रूरी है। जिसको देखे बिना वहां मौजूद सुरक्षा कर्मी, आगे नहीं जाने देने। इस शहर में किसी भी प्रकार का नशा या कोई भी गलत काम करना, गैर कानूनी है। मुस्लिम देशों में कानून बहुत सख़्त होते है।

मुझे उम्मीद है कि आप को मेरा यह लेख ज़रूर पसंद आएगा। कृपया अपने विचार अवश्य दे। धन्यवाद।

मनिंदर सिंह "मनी"

उज्बेकिस्तान का वीजा और पर्यटन स्थल की जानकारी

उज्बेकिस्तान (Uzbekistan) एक मुस्लिम देश है। इस देश के बारे में बहुत ही काम लोग जानते है। यह एक खूबसूरत और आकर्षक देश है। सैलानियों के लिए इस देश में बहुत कुछ है। इस देश के लोग बहुत ही दोस्ताना होते है। आइए आज बात करते है, उज्बेकिस्तान (Uzbekistan) के वीज़ा और पर्यटन स्थलों के बारे में।

वीज़ा (Visa) :- यात्री के पासपोर्ट की अवधि कम से कम 6 महीने होनी जरूरी है। पासपोर्ट में कम से कम दो पेज खाली ज़रूर हो। पासपोर्ट में किसी प्रकार की छेड़ छाड़ ना की गयी हो। होटल बुकिंग या यात्री के पास निमंत्रण पत्र ज़रूर हो, जहाँ उसने ठहर ना हो। वापसी की कन्फ़र्म एयर टिकट हो। ऑनलाइन वीज़ा आवेदन की भारतीयों के लिए सुविधा उपलब्ध है। यात्रा से कम से कम 5 या 3 दिन पहले वीज़ा आवेदन करे। यह वीज़ा 30 दिनों के लिए होगा, एक बार जाने के लिए। इस वीज़ा के लिए 20 डॉलर शुल्क लगेगा।


हिस्ट्री म्यूजियम (History museum)

हिस्ट्री म्यूजियम उज्बेकिस्तान (Uzbekistan) की राजधानी ताशकंद (Tashkent) में स्थित है। इस संग्रहालय में इस देश को सही रूप से जानने का मौका मिलता है। यहाँ पुराने सिक्के, किताबें, पुरातत्व लेख पढ़ने और देखने के लिए मिलते है। यह चार मंजिला संग्रहालय है। सिर्फ सोमवार को छोड़ कर सुबह 10 बजे से लेकर शाम 5  बजे तक खुला रहता है।


नवोई रंगमंच (Navoi theater)

नवोई रंगमंच में पर्यटकों को इस देश के नाटकों को देखने का अवसर मिलता है। जिन लोगो को नाटकों में रुचि हो उन लोगो के लिए यह बहुत बढ़िया स्थान है। नवोई रंगमंच के थिएटर अपनी वास्तुकला के लिए दुनिया भर में प्रसिद्ध है। यहाँ पर नाटक देखने के चाहवान लोग ऑनलाइन 6 बजे तक टिकट ख़रीद सकते है। यहाँ जाने के शार्ट ड्रेस, फ्लिप फ्लॉप या स्नीकर्स पहन कर नहीं जा सकते है।


यह पढ़े:- लेह लद्दाख वाले स्थानों की जानकारी 

चौरसू बाजार (Chorsu market)

चौरसू बाजार ताशकंद (Tashkent) का बहुत ही पुराना और आकर्षक बाजार है। यहाँ पर ज्यादा स्टाल ही लगे मिलते है। यह बाजार सुबह सुबह ही खुल जाता है। इस बाजार से लोग अपनी रोज़मर्रा की चीज़े ख़रीद कर ले जाते है। चौरसू बाजार में बढ़िया रेस्टोरेंट, कैफ़े, स्ट्रीट फूड आसानी से मिल जायेंगे।


ताशकंद इस्लामिक विश्विद्यालय (Tashkent Islamic university)

ताशकंद इस्लामिक विश्वविद्यालय उज्बेकिस्तान (Uzbekistan) के मुख्य यूनिवर्सिटी में से एक है। इसमें बहुत ही सुंदर तीन मक़बरे बने हुए है। किसी बाहरी व्यक्ति को अंदर जाने की अनुमति नहीं है। इसके अंदर जाने के लिए पहले अनुमति लेनी पड़ती है।


कुक्लैडश मदरसा (Kukeldash madrasah)

कुक्लैडश मदरसा एक धार्मिक स्कूल है। यह चौरसू बाजार और जुमा मस्जिद के बिलकुल पास में स्थित है। यह मदरसा यहाँ के मुख्य स्थानों में से एक है। मदरसे की बनावट को देख कर सैलानी दंग रह जाते है। हर साल काफी लोग इसे देखने के लिए आते है।


भूकंम्प स्मारक (Bhukammp memorial)

उज्बेकिस्तान (Uzbekistan) में भूकंप स्मारक को करेज स्मारक के रूप में भी जाना जाता है। 26 अप्रैल 1966 पर 9-प्वाइंट रिक्टर स्केल के आए भूकंप ने ताशकंद के एक बहुत बड़े हिस्से को बिलकुल खत्म कर दिया था। एक चौथाई के करीब लोगो को बेघर होना पड़ा था। यह बहुत ही संताप से भरा समय था। यहाँ के लोगो ने फिर से अपनी जिंदगी को फिर से बहुत ही जल्दी खड़ा किया। यह बहुत ही हिम्मत से भरा काम था। इस भूकंप की याद में ठीक 10 साल के बाद एक स्मारक का उदघाटन किया गया। हर साल बहुत बड़ी संख्या में लोग इस स्थान को देखने के लिए ज़रूर आते है।


ताशकंद मीनार (Tashkent tower)

ताशकंद मीनार अपनी खूबसूरती के लिए दुनिया भर में प्रसिद्ध है। इस मीनार से ताशकंद शहर के बहुत बड़े हिस्से को सैलानी बड़े आराम से देख सकते है। सैलानियों के लिए एक बुरी बात यह है कि वह इसके अंदर कैमरे नहीं ले कर जा सकते है।


यह देखे:- ट्रैवल बीमा करवाने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें।

काफल-शशि समाधि (Kaffal shashi samadhi)

ताशकंद के बहुत ही बड़े संत क़फ़ल- शशि थे। क़फ़ल-शशि ने इस्लाम का प्रचार करने के साथ, समाज सुधारक और कवि थे। यह संत करीब एक हजार साल पहले यहाँ रहते थे। उनकी समाधि खास्त इमाम चौराहे के उत्तर-पूर्व में स्थित है। इस्लाम को मानने वाले लोग इस समाधि पर नतमस्तक होने के लिए ज़रूर जाते है।


जुमा मस्जिद (Juma mosque)

जुमा मस्जिद ताशकंद में सब से ऊंची मस्जिद है। कहा जाता है कि इस मस्जिद का निर्माण 9 वीं सदी के करीब गए था। यह मस्जिद कई बार क्षतिग्रस्त हुई और कई बार इसे फिर से बनाया गया। वर्ष 2003 में इस मस्जिद में कई तरह के बदलाव किये गए। इस मस्जिद के दो मुख्य गुंबदों को आपस में जोड़ गया था।


छोटी मस्जिद (Choti Masjid)

छोटी मस्जिद अपनी सुंदरता के कारण ताशकंद में विशेष स्थान रखती है। यह मस्जिद पूरी तरह से संगमरमर पत्थर से तैयार की गयी है। इस मस्जिद का निर्माण 2014 में किया गया था। यहाँ पर एक बार में करीब 2400 लोगो के बैठने की व्यवस्था है।


रेगिस्तान स्क्वायर (Registan square)

समरकंद (Samarkand) के मुख्य चौंक का नाम रेगिस्तान स्क्वायर है। कहा जाता है कि मध्यु युग में इस स्थान पर बहुत बड़ा बाजार था। यह तैमूर युग की याद दिलवाता है। अक्सर भूकम्पों के कारण, यहाँ बानी इमारतों को बहुत ज्यादा नुक्सान हुआ। जिसको 20 सदी के समय में सोवियत संघ ने फिर से ठीक करने के लिए कोशिश की।


बीबी हनीम मस्जिद (Bibi Hanim mosque)

बीबी हनीम मस्जिद किसी समय दुनिया की सब से बड़ी मस्जिदों में से एक थी। यह तैमूर के समय में 1399 से 1404 के बीच में बनी है। इसके गुम्बद नील रंग के बने हुए है। यह मस्जिद 1897 में भूकंम्प के कारण खंडहर बन गयी थी। इस मस्जिद को 1970 में फिर से बनाया गया। यह बहुत ही सुन्दर इमारत है। यहाँ पर बहुत बढ़ी संख्या में लोग घूमने के लिए आते है।


यह पढ़े:- दिल्ली में घूमने वाली जगह जंतर मंतर के बारे में 

शाह-ए-ज़िंदा (Shah e zinda)

शाह-ए-ज़िंदा को "लिविंग किंग मकबरे" के नाम से भी जाना जाता है। इसमें उज्बेकिस्तान (Uzbekistan) देश के राजाओं को और वहां की बड़ी बड़ी हस्तियों को दफ़न किया गया था। ऐतिहासिक इमारतों में रूचि रखने वाले लोगो के लिए यह बहुत बढ़िया स्थान है।

उलुगबेक वेधशाला (Ulugbek madrasah)

उलुगबेक वेधशाला को 1908 में खोजा गया था। यह वेधशाला तैमूर के पौत्र राजा उलगबेग ने बनवाया था। उलगबेग बहुत ही अच्छे खगोल वैज्ञानिक थे। इस इमारत की ऊंचाई करीब 30 मीटर है। यह शहर से थोड़ी दूरी पर स्थित है। आज के समय में यह एक संग्रहालय है।


सियाब बाजार (Siyaab market)

सियाब बाजार समरकंद (Samarkand) के मुख्य बाजार में से एक है। सैलानियों को इस बाजार में उज्बेकिस्तान की पूरी झलक दिखाई देगी। यहाँ से आप हर प्रकार की चीज़े ख़रीद सकते है। यह सामान छोटे छोटे स्टालों पर बिकने के लिए मिलेगा। यहाँ के व्यंजन दुनिया भर में प्रसिद्ध है।


बुखारा आर्क महल (Ark of bukhara)

बुखारा (Bukhara) आर्क महल 5 वीं शताब्दी में बनाया गया था। यह बहुत ही सुन्दर महल था। वर्ष 1920 में हुई बमबारी के दौरान इस महल को काफी नुक्सान पहुंचा था। यह राजाओं का निवास स्थान था। इस महल में हवेली, मंदिर, सैन्य बैरक, सिक्का बनाने का कारखाना, गोदाम, कार्यशालाएं और जेल  बनी थी। इस को पर्यटक एक छोटे से हिस्से में ही देख सकते है।

यह पढ़े:- चेन्नई में घूमने वाली जगहों के बारे में जानकारी

चारमीनार (Charminar)

चारमीनार वास्तव में मदरसे के चारों तरफ बनी चार मीनार है। इस मदरसे को वर्ष 1807 में बनाया गया था। यह चार मीनार दुनिया के चार धर्मों को दर्शाने का काम करती है। यहाँ की सड़कें भारतीय सड़को से काफी मिलती जुलती है।


कलोन मिनारेट (Kalon minaret)

कलोन मिनारेट मीनार को अर्सलान खान राजा ने 1127 में बनवाया था। यह मीनार बहुत ही सुन्दर और
आकर्षक है। वर्ष 1127 में यह मध्य एशिया की सब से ऊंची इमारत में से एक थी। इसकी नींव ज़मीन में 10 मीटर और ऊंचाई 47 मीटर है। जब चंगेज खान ने इस शहर पर हमला किया तो उसने सारे शहर में सिर्फ इस इमारत को सही रखने का आदेश दिया।