ads

चेन्नई में घूमने वाली जगहों के बारे में जानकारी। (Chennai mein ghumane wali jagh ke baare mein jaankari)

भारत देश के दक्षिण में स्थित चेन्नई (Chennai) बहुत ही सुन्दर राज्य है। चेन्नई राज्य का पहला नाम मद्रास था। ऐतिहासिक और आधुनिक शैली को एक साथ जीने वाला राज्य है। पर्यटकों के लिए चेन्नई में बहुत कुछ ऐसा है, जो कहीं भी नहीं उन्होंने देखा होगा। आइए आज हम बात करते है चेन्नई के पर्यटन स्थलों के बारे में जानकारी (Chennai mein ghumane wali jagh ke baare mein jaankari)।


मरीना समुद्री तट (Marina beach)

मरीना समुद्री तट भारत देश का सब से लंबा समुद्री तट है। इस तट की लम्बाई करीब 13 किलोमीटर है। मरीना समुद्री तट अपनी खूबसूरती के कारण दुनिया भर के लोगो को आसानी से अपनी तरफ खींचने में कामयाब हो जाता है। ठंडी ठंडी हवा और हल्की हल्की धुप में शरीर को सेंकना बहुत ही बढ़िया अनुभव है।


एम जी आर फिल्म सिटी (M G R film city) 

तमिलनाडु सरकार ने 1994 में एम जी आर फिल्म सिटी  का निर्माण करवाया। इस फिल्म सिटी को एम जी रामचंद्रन को समर्पित किया गया है। एम जी रामचंद्रन तमिल फिल्मों के मशहूर अदाकार और तमिलनाडु के मुख्यमंत्री भी रहे थे। एम जी आर फिल्म सिटी में दक्षिण की कई फिल्मों का निर्देशन भी किया गया है। पर्यटकों को दक्षिण के फिल्म जगत के बारे में, काम करने के ढंग के बारे में बहुत सारी जानकारी मिलती है।


यह ज़रूर पढ़े- सैक्स की सब से बड़ी मंडी इन देशो में लगती है।

कोल्ली हिल्स (Kolli hills)

चेन्नई (Chennai) राज्य के खूबसूरत हिल्स में कोल्ली हिल्स भी एक नाम है। कोल्ली हिल्स नामक्कल जिले में स्थित है। भगवान शिव की साधना के लिए इस हिल्स पर अपार्पलेश्वर मंदिर बहुत सुविख्यात है। कहा जाता है कि इस मंदिर में साफ़ दिल से जो भी मनोकामना मांगी जाती है, वो हर हाल में पूरी होती है। कोल्ली हिल्स (Kolli hills) का वातावरण बहुत ही बढ़िया है। पर्यटकों को यहाँ की ताज़ा हवा ताज़गी से भर देती है।


ब्रीज़ी समुद्री तट (Breezy beach)

जो पर्यटक शांति से समुद्री तट पर कुछ समय बिताना चाहते है, उनके लिए ब्रीज़ी समुद्री तट बहुत बढ़िया स्थान है। ब्रीज़ी समुद्री तट पर शाम को टहलने का मज़ा ही कुछ और है। शाम के समय इस तट पर काफी चल पहल नज़र आती है।


मारुंडेश्वरर मंदिर (Marundeeswarar temple)

तिरुवन्मियूर शहर में मारुंडेश्वरर नामक बहुत ही प्रसिद्ध मंदिर है। मारुंडेश्वरर मंदिर को औशदेश्वर मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। इस मंदिर में भगवान शिव की पूजा साधना होती है। मारुंडेश्वरर मंदिर की मान्यता है कि यहाँ पर पूजा करने से हर प्रकार की बीमारी ठीक हो जाती है। भगवान शिव को इस मंदिर में औषधियों का देवता मान कर पूजा जाता है।


अरिगनर एना जूलॉजिकल पार्क (Arignar anna zoological park)

परिवार के साथ चेन्नई (Chennai) में घूमने के लिए अरिगनर एना जूलॉजिकल पार्क बहुत बढ़िया स्थान है। हर उम्र के आदमी के कुछ ना कुछ है, देखने के लिए। यह पार्क कांचीपुरम जिले में वंडलूर में स्थित है। अरिगनर एना जूलॉजिकल पार्क एशिया के सब से बड़े पार्क में से एक है। इस पार्क का क्षेत्रफल लगभग 1260 एकड़ है।


वल्लुवर कोट्टम (Valluvar Kottam)

तमिल भाषा के बहुत बड़े विद्वान कवि होने के साथ संत कहे जाने वाले तिरुवल्लुवर जी के सम्मान में वल्लुवर कोट्टम मंदिर को बनवाया गया था। तिरुवल्लुवर जी ने 1970 के समय में समाज के लिए बहुत कुछ किया था। इस मंदिर की वास्तुकला पर्यटकों को एकदम अपनी तरफ आकर्षित कर लेती है।
वल्लुवर कोट्टम मंदिर में सुबह और शाम के समय बहुत ज्यादा भीड़ होती है।


अष्टलक्ष्मी मंदिर (Ashtilalakshmi temple)

जिन लोगो को जीवन में लक्ष्मी और ज्ञान की कमी है, वो एक बार अष्टलक्ष्मी मंदिर में ज़रूर आयें। अष्टलक्ष्मी मंदिर में पूजा करने वाले हर व्यक्ति को ज्ञान और धन की प्राप्ति ज़रूर होती है। इस मंदिर की सुंदरता को देख कर हर एक आदमी दंग रह जाता है। इस मंदिर में धार्मिक त्यौहारों पर बहुत ज्यादा पैसा खर्च किया जाता है। अष्टलक्ष्मी मंदिर बंगाल की खाड़ी के तट पर बेसंट नगर में स्थित है।

यह ज़रूर पढ़े- मैक्सिको के सुन्दर पर्यटन स्थल


विवेकानंद हाउस (Vivekananda house) 

स्वामी विवेकानंद (Vivekananda) जी आइस हाउस में वर्ष 1900 में करीब 6 सप्ताह अपने जीवन के गुज़रे थे। जिसके कारण उनके अनुयायियों के द्वारा इस आइस हाउस को विवेकानंद हाउस का नाम दिया गया है। आज यह एक तीर्थस्थल के रूप में जाना जाता है। विवेकानंद हाउस में आने वाले हर पर्यटक को स्वामी विवेकांनद जी के जीवन से जुड़ी हर घटना का पता चलता है।


सैन्थोम कैथड्रेल चर्च (Santhome cathedral church)

इतिहासकारो के अनुसार 14 वी और 15 वी शताब्दी के समय सैन्थोम कैथेड्रल चर्च का निर्माण पुर्तगाल के लोगो के द्वारा करवाया गया था। सैन्थोम कैथेड्रल चर्च ऐतिहासिक चर्च है। इस कुछ की सुंदरता का हर कोई दीवाना है। इस चर्च का नाम ईसा मसीह के बहुत बड़े उपासक सेंट थॉमस के नाम पर रखा गया था। इस गिरजाघर  में  किसी भी धर्म का व्यक्ति जा सकता है, लेकिन मुख्य रूप से इस चर्च में ईसाई लोग जाते है।


एम जी एम डिज़ी वर्ल्ड (M G M dizzy world)

परिवार के साथ घूमने के लिए एम जी एम डिज़ी वर्ल्ड बहुत ही बढ़िया स्थान है। एम जी एम चेन्नई के सब से पुराने पार्क में से एक है। हर उम्र के लोगो के लिए यहाँ पर झूले और वाटर गेम है। इस पार्क में पिकनिक मनाने का मज़ा ही कुछ और है।  बच्चों को एम जी एम डिज़ी वर्ल्ड बहुत पसंद आता है।


कपालेश्वर मंदिर (Kapaleeswarar temple)

कपालेश्वर मंदिर चेन्नई (Chennai) का बहुत ज्यादा प्रसिद्ध मंदिर है। इस मंदिर का निर्माण पहले पल्ल्वों के द्वारा किया गया था। जब चेन्नई में पुर्तगाली लोग आए तो उन्होंने इस मंदिर को बिलकुल नष्ट कर दिया था, जिसके बाद इस मंदिर को 16 वी सदी में विजय नगर के राजाओ के द्वारा दोबारा बनाया गया था। कपालेश्वर मंदिर के पश्चिम दिशा में एक तालाब भी स्थित है। इस मंदिर में बहुत बढ़ी संख्या में लोग नतमस्तक होने के लिए आते है।

मुझे उम्मीद है कि आप को मेरा यह लेख ज़रूर पसंद आया होगा। कृपया अपने विचार कमेंट बॉक्स में ज़रूर दे। धन्यवाद।

Maninder singh "mani"

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

कृपया कमेंट बॉक्स में कोई भी स्पैम लिंक न डालें।