करतारपुर साहिब, पाकिस्तान जाने के लिए नियम और सावधानियां (Visit Kartarpur sahib, Pakistan rules and Precautions)



सिक्खों के पहले गुरु गुरु नानक देव (Guru Nanak dev) जी ने अपना अंतिम समय करतारपुर साहिब (Kartaarpur sahib)  में बिताया था। करतारपुर साहिब हिन्दुस्तान के बँटवारे के बाद पाकिस्तान (Pakistan) के हिस्से में चला गया है। जहाँ पर भारतीय सिखों के लिए जाना मुश्किल हो गया था। भारतीय सरकार और नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot singh sidhu) एवं पाकिस्तान की सरकार की तरफ से इमरान खान (Imraan khan) के प्रयास की वजह से भारतीय सिख लोग करतारपुर साहिब में माथा टेकने के लिए जा सकते है। करतारपुर कॉरिडोर (Kartaarpur corridor) तक जाने के लिए आप को किन किन दस्तावेज़  को जरूरत और सावधानियों के बारे में हम आप को बताने जा रहे है।

दस्तावेज़(Documents)

आप को पाकिस्तान (Pakistan) के करतारपुर कॉरिडोर तक जाने के लिए वीजा (without visa) की जरूरत नहीं है। पासपोर्ट (Passport), पुलिस क्लेरेंस सर्टिफिकेट, फोटोग्राफ्स, एक पहचान पत्र (Identity card) आप के पास होना लाज़मी है।

प्रक्रिया (Process)

सब से पहले आप को ऑनलाइन या सुविधा केंद्र में जा कर अपने जाने की तिथि बता कर देखना होगा के उस तारीख में सीट है के नहीं। आप के जाने वाले दिन की तारीख में सीट नहीं होगी तो आप को कोई और तारीख देखनी होगी। जब भी जाना हो करीब 12 से 15 दिन पहले ऑनलाइन आवेदन करे।  रजिस्ट्रेशन फॉर्म में मांगी गयी जानकारी बिलकुल ठीक भरे, अगर आप ने गलत जानकारी भरी तो आप को जाने नहीं दिया जायेगा। आवेदन करने के बाद आप को अपनी पुलिस क्लीरेंस रिपोर्ट करवानी होगी, जिसे आप को अपने साथ ले कर जाना होगा। इस में रिपोर्ट में आप को 2 पड़ोसियों की गवाही दर्ज होगी कि आप का चरित्र बढ़िया है।

डेरा बाबा नानक (Dera Baba Nanak) पहुंच कर आप को पाकिस्तान (Pakistan) में प्रवेश दिया जायेगा, जहाँ से आप को एक स्लिप मिलेगी। यह यात्रा सुबह 9 बजे से शुरू हो जाती है। आप को करतारपुर साहिब के दर्शन करके एक दिन में ही वापसी आना होगा। जब भी यात्रा करने के लिए आप जाएं तो, समय पर पहुंचे ताकि आप को पूरा समय मिल सके यात्रा करने के लिए।



कई लोग बिना पासपोर्ट लिए डेरा बाबा नानक (Dera Baba Nanak) पहुंच रहे है, यह गलत है। ऐसा करने पर आप को में प्रवेश की आज्ञा नहीं मिलेगी। आप को वीजा लेने की जरूरत नहीं  लेकिन आप को अपना पासपोर्ट पाकिस्तान (Pakistan) और भारतीय (Indian) इमीग्रेशन को दिखाना जरूरी है। पासपोर्ट पर किसी भी प्रकार की को स्टाम्प नहीं लगेगी। पासपोर्ट आप की पहचान का सबूत होगा। कोई अगर कहता है की पासपोर्ट की जरूरत नहीं तो वह गलत कह रहा है।

फीस (Fees)

आप को करतारपुर गुरु द्वारा साहिब (Kartaarpur sahib) के दर्शन करने के लिए करीब 20 डॉलर फ़ीस देनी होगी।

सावधानियां (Caution) 

यात्रा पर जाते समय कुछ बातों का खास ख्याल रखना होगा। सब से पहले आप के दस्तावेज़ पुरे हो। दस्तावेज़ में किसी प्रकार कटिंग ना की गयी हो। इस यात्रा में सिर्फ करतारपुर साहिब (Kartaarpur sahib) तक आप जा सकते है इस से आगे नहीं। यहाँ से संगत को एक ही दिन में वापिस आना होगा। बैग में किसी भी प्रकार का विस्फोटक, नुकीला, ज्वलंत, जहरीला पदार्थ ना हो। पाकिस्तान में किसी भी अनजान व्यक्ति से ना कोई चीज़ ले ना ही दे। अपने सामान को बिलकुल संभाल के रखे। 

वीज़ा ले कर जाना (With visa)

पासपोर्ट (Passport) पर भले स्टाम्प नहीं लगी पर आप के पासपोर्ट नंबर से पता लग जाएगा कि आप पाकिस्तान गए है। कई लोगो का कहना है कि पाकिस्तान जाने वाले लोगो को बड़े बड़े देश वीज़ा नहीं देते है। यह बात गलत है। आप कि यात्रा का मकसद सही होना चाहिए, आप को हर देश वीज़ा ज़रूर देगा। पाकिस्तान जाने वाले लोगो के लिए एक सलाह है कि वो वीज़ा ले कर पाकिस्तान (Passport) जाए। 14 दिन का वीज़ा आप को प्रति व्यक्ति सिर्फ 120 रुपए में मिल जायेगा। इस में आप कुछ दिन ज्यादा वहां रहकर धार्मिक स्थानों कि सैर कर सकते है।

वीज़ा ले कर आपको प्रवेश वाघा बॉडर से मिल जायेगा। यह बहुत ही सस्ता पड़ेगा। सारा ख़र्चा जोड़ा जाए तो 2000 से 3000 के बीच में बड़े आराम से आप पाकिस्तान (Passport) घूम कर आ सकते है। इस में किसी प्रकार कि दिक्कत का सामना भी नहीं करना पड़ेगा। करतापुर साहिब के साथ, ननकाना साहिब (Nankana sahib), पंजा साहिब (Panja sahib) आदि स्थानों के दर्शन आप कर सकते है।

मुझे उम्मीद है आप को मेरा यह लेख ज़रूर पसंद आएगा। कृपया अपने विचार कमेंट करके ज़रूर दे। धन्यवाद।

Maninder singh “mani”

1 टिप्पणी:

कृपया कमेंट बॉक्स में कोई भी स्पैम लिंक न डालें।