पाकिस्तान के सुन्दर पर्यटक स्थान (Pakistan beautiful tourist place)




हिंदुस्तान को आज़ादी के समय दो भागों में विभाजित किया गया था। एक हिस्से का नाम भारत और दूसरे हिस्से का नाम पाकिस्तान (Pakistan) रखा गया था। आज भारत (India) कर पाकिस्तान में कश्मीर को लेकर काफी विवाद रहता है। इन सब बातों को हम अलग रख कर सोचे तो दोनों मुल्कों के लोग कभी जंग नहीं चाहते है। भारत की तरह भी पाकिस्तान भी बहुत ही सुन्दर देश है। जिसकी खूबसूरती देखते ही बनती है। आइए आज हम बात करते है पाकिस्तान देश के पर्यटक स्थलों के बारे में।

नाल्तार वैली (Naltar Valley)

नाल्तार वैली (Naltar Valley) को रंगीन झीलों की घाटी भी कहा जाता है। यह गिलगिट शहर से करीब 3 घंटे की दूरी पर स्थित है। यह पाकिस्तान का सब से मशहूर पर्यटन स्थल है। इस घाटी में सब से ज्यादा आलू की खेती की जाती है। यहाँ पर आप को देवदार के बहुत ज्यादा पेड़ देखने को मिलेंगे। यहाँ पर आकर आप को ऐसा प्रतीत होगा है कि आप किसी और दुनिया में हो।

नीलम वैली कश्मीर (Neelam Valley)

नीलम वैली कश्मीर (Neelam Valley)  पाकिस्तान का मुख्य पर्यटन स्थल है। यह घाटी आज़ाद कश्मीर में मुज्जफराबाद के उत्तर में करीब 240 किलोमीटर में फैली हुई है। यहाँ आप को मीठा पानी, झरने, जंगल देखने को मिलेगा। जो लोग प्रकर्ति से प्यार करते है उनके लिए यह जगह जन्नत से कम नहीं। यहाँ पर हर साल बहुत पर्यटक आते है।

शंगरीला रिसोर्ट (Shangrila Resort)

शंगरीला घाटी (Shangrila Resort) को सुंदरता और शांति का प्रतीक माना जाता है। यह घाटी पाकिस्तान के उत्तरी क्षेत्र के गिलगिट बाल्टिस्तान में स्थित है। यह काकोरम राज्य्मार्ग के बहुत ही नज़दीक है। यहाँ पर आकर आप का दिन कब खत्म हो जायेगा आप को पता भी नहीं चलेगा। शंगरीला घाटी अपनी प्राकर्तिक सुंदरता के लिए बहुत ही प्रसिद्ध है। इस घाटी में रहने वाले लोग भी अपने आने वाले मेहमान कि बहुत इज़्ज़त करते है। आप को महसूस ही नहीं होने देंगे कि आप किसी और जगह से आए है।


गोजल घाटी (Gojal valley)

गोजाल घाटी (Gojal valley) चीन और अफगानिस्तान की सीमा के साथ सटी हुई है। यह समुद्र ताल से करीब 15397 फुट की ऊंचाई पर है। गोजाल घाटी में पूरे साल बर्फ पड़ती रहती है। यह वाकई में कमाल की जगह है। यहाँ पर पर्यटक बर्फ पर खेल खेलने के लिए आए है। आप अगर कभी पाकिस्तान आए तो यहाँ पर ज़रूर आए। अपने साथ कैमरा ज़रूर लाए।

राम घास का मैदान (Rama Meadows)

राम गांव से करीब 11 किलोमीटर दूर राम घास (Rama Meadows) मैदान है। इस मैदान का दूसरा नाम राम मीडो है। यहाँ पर आकर आप को बहुत ज्यादा शांति महसूस होगी। यहाँ पर आप को हरी हरी घास, चीर के पेड़, बर्फ से ढकी पहाड़ियाँ, कई किस्म के जानवर भी आप को देखने को मिलेंगे। यह जगह बच्चों को बहुत ज्यादा पसंद आने वाली है। यहाँ पर आप अपने परिवार के साथ पिकनिक मना सकते है। राम मीडो में आप को पानी दूध की तरह सफ़ेद दिखाई देगा।

हवाई जहाज़ टिकट, होटल बुक करने के लिए यहाँ क्लिक करे

बहावलपुर पाकिस्तान (Bahawalpur)

बहावलपुर (Bahawalpur) पाकिस्तान का सब से आकर्षित शहर है। यहाँ पर आप को ऐतिहासिक इमारत, पार्क, स्मारक के साथ पंजाब की रियासत को अपने अंदर समेटे हुए हैबहावलपुर में आप को ऐतिहासिक महल भी देखने को मिलेंगे। जिनको देखकर आप अचंभित हो जायेंगे। इस शहर में आप को एक तरफ हरियाली और एक तरफ रेगिस्तान का खूबसूरत नज़ारा भी देखने को मिलेगा।


रानीकोट किला (Ranikot Fort)

रानी कोट (Ranikot Fort) को दुनिया का सब से बड़ा किला भी कहा जाता है। यह किला पाकिस्तान के सिंध प्रान्त में स्थित है। रानी कोट किले (Ranikot Fort) का क्षेत्रफल करीब 32 किलोमीटर है। यह बहुत ही सुन्दर किला है। यहाँ पर आप को आने के लिए कराची राष्ट्रीय राज मार्ग से आना होगा। इस किले की दीवारों की तुलना चीन की दिवार के साथ की जाती है। यह किला 24 घंटे के लिए खुला रहता है।

मोहन जोदड़ो घाटी (Mohan jodhado vally)

मोहन जोदड़ो (Mohan jodhado vally) का सिंध भाषा में अर्थ मुर्दो का टीला है। इस घाटी का इतिहास करीब 5000 हजार साल पुराना है। इस को दुनिया का सब से पुराना शहर कहा जाता है। यह कराची से करीब 580 किलोमीटर दूर है। यह अपने समय का बहुत ज्यादा विकसित शहर था। यहाँ पर आप को वास्तुकला का उत्तम नमूना देखने को मिलेगा।

मुल्तान (Multaan)

पाकिस्तान के पंजाब राज्य के एक शहर का नाम मुल्तान (Multaan) है। मुल्तान पाकिस्तान का 6 वा सब से बड़ा शहर है। यह शहर सूफी लोगो का शहर कहा जाता है। सूफी वो लोग होते है जो इस्लाम धर्म का प्रचार करते है। यह शहर बहुत ही सुन्दर और आकर्षक है।

लाहौर (Lahor)

लाहौर (Lahor) बहुत ही सुन्दर शहर है। यह पाकिस्तान (Pakistan) के पंजाब राज्य की राजधानी है। यहाँ पर हर साल बहुत बड़ी संख्या में  लोग घूमने के लिए आते है। इस शहर का पाकिस्तान के इतिहास में बहुत बड़ा हिस्सा रहा है। लाहौर को पाकिस्तान का दिल भी कहा जाता है। लाहौर में आप को वज़ीर खान मस्जिद (Wajir khan masjid) देखने के लिए मिलेगी। वज़ीर खान मस्जिद का निर्माण मुगल बादशाह शाहजहां ने करवाया था। यह बहुत ही शानदार मस्जिद है। इस मस्जिद में मुग़ल काल के कारीगरों की बेहतरीन कारीगरी देखने को मिलेगी। इसका निर्माण 1634 में शुरू हो कर 1642 में खत्म हो गया था।

ननकाना साहिब (Nankana sahib)

ननकाना साहिब (Nankana sahib) शहर में सिखों के पहले गुरु गुरु नानक देव जी का जन्म स्थान है। उनके इस जन्म स्थान पर ननकाना साहिब गुरूदवारा साहिब बना हुआ है। यह स्थान बहुत ही सुन्दर है। सिखों के लिए यह स्थान मक्का की तरह है।


शालीमार बाग (Shalimaar baag)

शालीमार बाग (Shalimaar baag) लाहौर में बना हुआ है। इस बाग़ का 1641 में निर्माण मुगल बादशाह शाह जहां ने करवाया था। यह बहुत ही खूबसूरत बाग़ है। इस बाग़ में 410 फव्वारे लगे हुए है। इस बाग़ का निर्माण 1637 में शुरू हुआ और 1641 में खत्म हुआ था। शालीमार बाग़ पुराने लाहौर के साथ लगते बागबान पूरा में स्थित है।

मीनार ए पाकिस्तान (Minar e pakistan)

मीनार ए पाकिस्तान (Minar e pakistan) लाहौर के इक़बाल पार्क में स्थित है। यह बहुत ही सुन्दर मीनार है। इस मीनार को आज़ादी के बाद बनाया गया था। इस मीनार को बनाने की इजाज़त पाकिस्तान के पहले प्रधान मंत्री मोहम्मद अली जिन्ना ने दी थी। इस मीनार की ऊंचाई 196 फुट है। इस मीनार में 324 सीढ़ियां है।इस मीनार पर कुरान की आयतों को भी लिखा गया है। 

मुझे उम्मीद है की आप को मेरा यह लेख पसंद आया होगा। कृपया अपने विचार कमेंट करके ज़रूर बताए। धन्यवाद।

Maninder Singh "Mani"
+91-9216210601

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

कृपया कमेंट बॉक्स में कोई भी स्पैम लिंक न डालें।