शुक्रवार, 8 नवंबर 2019

जापान के खूबसूरत पर्यटन स्थल (Japan beautiful tourist places)




जापान (Japan) एक ऐसा देश है जहाँ के लोग हर वक्त कुछ ना कुछ नया करने के बारे में सोचते है। आज शायद इसीलिए इस देश का नाम टेक्नोलॉज़ी के क्षेत्र में सब से पहले लिया जाता है। दो बार परमाणु बम की मार, और एक बार सुनामी की मार ने जापान को बुरी तरह से तोड़ कर रख दिया था। इस देश के लोगों ने अपनी मेहनत के बल बुते पर इस देश को फिर से खड़ा कर दिया। यहाँ पर टेक्नोलॉजी के साथ, प्राकृतिक खूबसूरती, ऐतिहासिक इमारतें भी देखने को मिलती है। आइए आज हम बात करते है जापान देश के पर्यटन स्थल (Tourist Place) के बारे में।




फूजी पर्वत (Fuji Mountain)


जापान (Japan) देश की सब से ऊंची पर्वत चोटी का नाम राजसी माउन्ट फूजी पर्वत चोटी (Fuji mountain) है। इस चोटी को फूजी सान या फूजी पर्वत भी कहा जाता है।  फूजी हकोन-इजु नेशनल पार्क का हिस्सा है। हर साल इस पर्वत पर 1 मिलियन सैलानियों के द्वारा इस पर्वत पर चढ़ाई की जाती है। गर्मियों के मौसम में इस पर्वत पर तीरथ यात्रा की जाती है। जिसमें पर्वत की चोटी पर चढ़ कर सूर्योदय से लेकर सूर्यास्त देखना होता है। इस पर्वत की चढ़ाई के समय रास्ते में खाने पीने, रहने आराम करने के लिए स्टेशन बनाये गए है। कुछ लोग इस पर्वत की आधी ही चढ़ाई चढ़ते है और कुछ लोग इस चढ़ाई को दूर से देख कर ही दिल को बहला लेते है।




इम्पीरिअल टोकियो (Imperial Tokyo)


टोकियो (Tokyo) जापान (Japan) की राजधानी है। यहाँ पर आप को 17 सदी की इमारतें, पार्क, इम्पीरिअल पैलेस, देखने को आसानी से मिल जायेगा। इम्पीरिअल पैलेस के कुछ भागों को जनता के लिए अब बंद कर दिया गया है। लोग इस पैलेस के बाग़ में घूम कर सुंदर दृश्यों को देख सकते है। इस शहर में निजुबाशी ब्रिज, हिग्सी गयाना गार्डन, शिम्बाशी अनबूजो थिएटर, बहुत ज्यादा प्रसिद्ध है। आप ने अगर खरीदारी करनी है तो आप के लिए गिंजा सब से बढ़िया जगह रहेगी।




हिरोशिमा शांति स्मारक पार्क (Hiroshima Peace Memorial Park)


1945 में अमेरिका के द्वारा परमाणु बम बारी की गयी थी। इस परमाणु विस्फोट में लाखों लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा था। यह समय जापान के लिए बहुत ज्यादा भयानक समय था। इस बम का असर बहुत ज्यादा समय तक जापान के लोगों के ऊपर रहा था। यहाँ की सरकार ने उस काले दौर में मारे गए लोगों के लिए हिरोशिमा में शांति स्मारक पार्क बनाया है। इस पार्क को देखने के लिए बड़ी तादाद में लोग हर साल यहाँ पर आते है। इस पार्क के गार्डन में चेरी के फूलो को बहुत बड़ी मात्रा में लगाया गया है। यहाँ पर एक संग्रहालय भी बनाया गया है जिसमें उस काले दौर के बारे में लिखी किताबों को रखा गया है।




क्यूटो (Kyoto)


क्योटो को जापान का ऐतिहासिक शहर होने का खिताब हासिल है। यह शहर बहुत ज्यादा सुंदर और प्यारा है। इस शहर की सड़कों और वस्तु कला को देखने के लिए हर साल सैकड़ों लोग यहाँ पर आते है। कहते है यहाँ पर 1000 साल पहले भी शाही लोगों का राज हुआ करता था। यह शहर उस समय Saporo - Hokkaido शहर हुआ करता था। क्यूटो में आप को बौद्ध धर्म से संबंधित वास्तु कला भी देखने को मिलेगी। 17 वी सदी के किले निजो कैसल को देखने जरूर जाए। इस किले की दीवारें पुरानी दीवारें ही है। क्यूटो शहर से कुछ दूरी पर बांस का खूबसूरत इलाका अरशियामा बांस ग्रोव देखने वाला पर्यटन स्थल (Tourist Place) है।


होटल, एयर टिकट, टैक्सी बुक करने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये




इतुकुशीमा का द्वीप श्राइन (Itsukushima Shrine)


हिरोशिमा शहर से कुछ ही दूरी पर मियाजिमा द्वीप है। यह बहुत ही आकर्षित द्वीप है। यहाँ पर आप को पहुंचने के किश्ती में बैठ कर आना होगा। यह द्वीप हिरोशिमा की खाड़ी में करीब 30 किलोमीटर तक फैला हुआ है। मियाजिमा द्वीप को श्राइन द्वीप के नाम से भी जाना जाता है। श्राइन द्वीप पर एक शिंटो नामक मंदिर भी है। जो पवन देवता सुसानू की राजकुमारी बेटियां को समर्पित है। इस मंदिर का प्रार्थना भवन, ऑफरिंग भवन, मैन हाल देखने वाले है। यहाँ पर आने वाले पर्यटकों के लिए नृत्य और संगीत का भव्य आयोजन किया जाता है।




टेम्पल सिटी ऐतिहासिक नारा (Historical Temple City)


टेम्पल सिटी में आप को इतिहास से जुडी चीज़ों को देखने का मौका मिलेगा। यहाँ बहुत बड़ी संख्या में ऐतिहासिक इमारतें, कला से संबंधित कार्य देखने को मिलेंगे। इस शहर में सातवें सदी का मंदिर कोफुकु-जी मंदिर भी देखने को मिलेगा। यह जापान के सब से प्राचीन मंदिरों में से एक है। आठवीं सदी का टोडाई-जी मंदिर भी जो महान बुद्ध की कांस्य मूर्ति के लिए प्रसिद्ध है। टो डाई जी मंदिर के दक्षिण में नन्दिमोन भी है। यहाँ पर 18 खम्भों पर दो दो संरचना वाली दो एन आई ओ की मूर्तियां है। यह मूर्तियां  8 मीटर ऊंची है। इन मूर्तियों को देख कर ऐसा लगता है कि जैसे यह मंदिर के द्वारा पर खड़े हो कर मंदिर की रक्षा कर रही हो।




ओसका कैसल (Osaka Kaisal)

महान जापानी योद्धा और राजनीतिक टियोटोमी हिदेयोशी द्वारा ओसका कैसल किला बनाया गया था। यह किला बाद में एक शहर के रूप में विकसित हुआ। पर्यटकों के देखने के लिए यहाँ पर बहुत से मंदिर, संग्रहालय, पार्क और इमारतें है। जिनको देख कर हर किसी का मुंह खुला का खुला रह जाता है। जापान में भी लोग ज्यादातर बौद्ध धर्म के अनुयायी है। जिस कारण से यहाँ पर आप को बौद्ध मंदिर बहुत बड़ी संख्या में देखने को मिलेंगे।




चोबु-सांगुकु नेशनल गार्डन और जापानी आल्पस (Chobu-Sanguku National Garden) and (Japani Alpas)

चोबु-सांगुकु नेशनल गार्डन और जापानी आल्पस जापान (Japan) के सब से बेहतरीन बाग़ में से एक है। इस गार्डन को यूनेस्को (unesco) द्वारा विश्व धरोहर का दर्जा दिया है। यहाँ पर आप को कई प्रकार की किस्मों के फूल देखने को मिल जायेंगे। जापानी आल्पस (Japani alpas) को हिदा पर्वत भी कहा जाता है। यह पर्वत पर्यटकों को गर्मियों में हाकिंग और सर्दियों में स्कीईंग करने के लिए अपनी तरफ आकर्षित करता है। इस पर्वत पर आप को दुर्लभ जड़ी बूटियाँ भी आसानी से मिल जाएंगी। यहाँ पर आप को एक से बढ़ कर एक हॉलिडे रिसोर्ट मिल जाएंगे।





नागोया (Nagoya City) 


नागोया शहर में आप को कला के बेहतरीन नमूने देखने को मिल जायेंगे। जिनमें आप पुराने और नए चीनी मिट्टी के बर्तन, चित्र, सोने के गहने और पारंपरिक मुखोटे आप को मिलेंगे। नागोया (Nagoya) में आप को 48 मीटर ऊंचे टावर वाला नागोया कैसल भवन परिसर है। जहाँ पर इन ऊंचे टावर पर सोने के पानी की परत चढ़ी हुई है। यह भवन परिसर 1612 में बना था।




फुकुओका कैसल (Fukuoka Kaisal)


फुकुओका कैसल पर्यटन स्थल (Tourist Place) को देखे बिना आप की जापान यात्रा पूरी नहीं हो सकती है। फुकुओका में हर साल कर प्रकार के त्यौहारों का आयोजन किया जाता है। यहाँ पर आयोजित किये जाने वाले त्योहारों में से एक हाकाटा जियोना यामाकासा है। इस त्यौहार को करीब दो हफ्ते तक मनाया जाता है। यह पर्व करीब 700 सा पुराना है। यह उत्सव साल में एक बार जुलाई में आयोजित किया जाता है। फुकुओका (Fukuoka) में एक नहर सिटी हाकाटा है। इस सिटी में आप को बढ़िया से बढ़िया माल, दुकानें, रेस्तरां और थिएटर देखने को मिल जायेंगे।




सपोरो, होक्काइदो (Saporo, Hokkaido)


उत्तरी द्वीप होक्काइदो (Hokkaido) पर सपोरो शहर स्थित है। यहाँ पर सारा साल पर्यटकों की भीड़ लगी रहती है। यहाँ पर सैलानियों को कई प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम देखने को मिलते है। यहाँ पर सब से मशहूर अडोरी पार्क है। यहाँ पर घूमने वाले लोगो का कहना है कि यहाँ आकर बहुत ही सुखद आनंद आता है। यहाँ सर्दियों में स्कीइंग और गर्मियों में हाईकिंग करने का मौका मिलता है। इस शहर में 1972 में शीतकालीन ओलम्पिक खेलों का आयोजन किया गया था। यहाँ पर फ़रवरी में साप्पोरो स्नो फेस्टिवल मनाया जाता है। इस फेस्टिवल में सालाना 2 मिलियन के करीब लोग हिस्सा लेते है। 




जापान (Japan) में रहे सावधान


जापान (Japan) के लोगों को गंदगी बिलकुल पसंद नहीं, इसलिए कूड़ा फ़ैला ने की गलती बिलकुल ना करें। यहाँ पर महिलाओं कि सुनवाई बहुत जल्दी कि जाती है। किसी भी महिला या लड़की को छेड़ कर किसी मुश्किल में ना पड़े। अपनी गलती पर जल्दी से माफ़ी मांगे और किसी ने आप के लिए कुछ किया है उससे धन्यवाद जरूर कहे। ऐसा करना सभ्य आदमी की निशानी मानी गयी है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

कृपया कमेंट बॉक्स में कोई भी स्पैम लिंक न डालें।

अहमदाबाद गुजरात भारत के पर्यटन स्थल के बारे में विस्तार सहित जानकारी

अहमदाबाद (Ahmedabad) गुजरात का बहुत ही सुन्दर शहर है। यह पहले गुजरात की राजधानी हुआ करता था। इसको कर्णावती नाम से भी पहचाना जाता है। साबरमती...