सैक्स के अजीबो गरीब कानूनों के बारे में जाने (Learn about the strange laws of sex)

                                  

दुनिया में सभी को सैक्स (Sex) करना बहुत ही अच्छा लगता है। कोई ही ऐसा मनुष्य होगा जिसे अच्छा ना लगता हो। कुछ लोगों की विदेशी लोगों के साथ सैक्स करने की इच्छा होती है। आप भी अगर ऐसी कोई इच्छा रखते है तो आप भी सावधान हो जाए क्यों कि संभोग के बारे अलग अलग देशों में अलग अलग कानून है। आप को उन देशों के नियमों के हिसाब से सैक्स करते पकड़ लिया तो आप को जेल भी हो सकती है। आइए  आप भी जानिए (Learn) अलग अलग देशों में सैक्स कानूनों के बारे (About) में।

अलग अलग देशों में सैक्स कानूनों के बारे में जानकारी


  • इंग्लैंड देश कि राजधानी लंदन (London) में आप अपनी मोटर साइकिल को पार्क करके, उस पर बैठ कर संभोग (Sex) नहीं कर सकते है। कोई ऐसा करते पाया जाता है तो उसे जेल भी हो सकती है।
  • किसी भी महिला को चीन में यह हक़ नहीं है कि वह होटल के कमरे में पूरी नंगी हो कर घूम सके। यहाँ तक की वह बाथरूम में भी नंगे नहीं हो सकती है।

दुनिया के सब से बढ़िया नग्न समुद्री तटों के बारे में जानकारी लेने के लिए यहाँ क्लिक करें


  • हांगकांग (Hong Kong) में पत्नी को धोखा देने वाले पति को अगर जान से मार दे, तो उस पर कोई कानूनी कार्यवाही नहीं होगी। इसमें शर्त है कि पत्नी के हाथ नंगे हो।

  • शादी के बाद भारत (India) में पति पत्नी के साथ जबरदस्ती संभोग (Sex) करता है तो उसे बलात्कार कि श्रेणी में नहीं लाया जाता है। ऐसा करना भारत देश में बिलकुल जायज़ है।


  •  कुछ लोगों को जानवरों के साथ सैक्स (Sex) करना अच्छा लगता है। ऐसे लोगों के लिए ग्रीस (Greece) बहुत बढ़िया जगह है। लेबनीज़ लॉ  के अनुसार लोग जानवरों के साथ संभोग कर सकते है शर्त है कि वह जानवर फीमेल हो।
  • कोई औरत ओहियो के ऑक्सफ़ोर्ड प्रांत में किसी आदमी को फोटो के सामने नग्न हो जाती है तो उसे जेल की हवा खानी पड़ेगी।
  • सांताक्रुज बोलीविया में एक आदमी का माँ बेटी के साथ एक साथ सैक्स करना कानूनी अपराध है। ऐसा करने पर सीधे जेल होगी।
  • शादी के बाद कोलंबिया में काली महिला को अपनी सुहागरात वाले दिन अपने पति के साथ सैक्स, अपनी माँ की मौजूदगी में करना पड़ता है।
  • वेस्टर्न पैसिफिक ओशिएन के गुआम क्षेत्र अमेरिका में आदमियों का पुराना काम घूम घूम कर वर्जिन युवतियों के साथ सैक्स (sex) कर करके उनके कौमार्य को भंग करें। ऐसा करने पर उनको इसके लिए लड़कियां उनको पैसे दिए जाते है।
  • संभोग करते समय विस्कॉन्सिन के कॉनर्सविले में जब महिला का कौमार्य भंग होने वाला होता है, उस समय बंदूक से फायर करना कानूनी अपराध है।

हनीमून के लिए दुनिया में सब से बेहतरीन स्थानों के बारे में जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे


  • बेल्जियम (Belgium) में वेश्या वृति के लिए लाइसेंस लेना पड़ता है। वेश्या वृति (Prostitution) करने वाले लोगों के हाथों के निशान भी लिए जाते है। ऐसा सुरक्षा के नज़रिये से किया जाता है। यहाँ पर इ कार्ड्स की व्यवस्था भी शामिल है।

  • 2014 में बने कनाडा के नए कानून के हिसाब से आप खुद के लिए वेश्या वृति (Prostitution) कर सकते है लेकिन आप किसी से करवा नहीं सकते है। इसे व्यापार बनाना कानूनी अपराध है।


  • ग्रीस में वेश्या वृति (Prostitution) का कार्य कानूनी है। यहाँ पर सैक्स कर्मचारियों के स्वास्थ्य बीमा किए जाते है। हर कर्मचारी का पंजीकरण के बाद एक आई डी कार्ड दिया जाता है। जो कर्मचारी के पास होना जरूरी होता है।
  • आप अगर बिना कंडोम के नवेदा में संभोग करते है तो आप गैर कानूनी काम कर रहे है। आप का यहाँ पर सेक्स करने के कंडोम पहनना जरूरी है।
  • सैक्स खिलौने नेपाल में बेचना कानूनी है। यहाँ पर आम दुकानों पर बेचे जाते है।
  • लिंग आकर के क घर में खिलौने रखना अमेरिका के अरिजोना प्रान्त में गैर कानूनी है। टेक्सेस में 6 खिलौनों (Sex toys) से ज्यादा रखना कानूनी अपराध है। 
  • लिवरपूल, इंग्लैंड में फिश स्टोर पर ही टॉप लेस हो कर महिला काम कर सकती है। 
  • इक्वाडोर देश में आप किसी भी प्रकार का देह व्यापार (Prostitution) कर सकते है। यहाँ पर सब कुछ जायज़ है। इसमें सब से बड़ी बात यह कि आप किसी को ज़बरदस्ती सेक्स वर्कर नहीं बना सकते है। ऐसा करने पर कठोर से कठोर दण्ड देने की यहाँ पर पूरी पूरी व्यवस्था है।

अपनी यादों को फोटो मैं कैद करने के लिए कैमरा यहाँ से खरीदे

  • जर्मनी (Germany) देश सब से पहला देश है, जहाँ पर देह व्यापार (Prostitution) को कानूनी मान्यता दी गयी थी। इसमें देह व्यापार करने वाले कर्मचारियों के बीमा, पंजीकरण भी किया जाते है। सरकार देह व्यापार करने वाले लोगों से टैक्स वसूल करती है, जो एक निश्चित समय के बाद उनको पेंशन के रूप में वापिस दिया जाता है।

  • देह व्यापार करना बांग्लादेश (Prostitution) में कानूनी है। यहाँ पर देह व्यापार से संबंधित हर काम जायज़ है। इस देश में बच्चों को अगवा करके देह व्यापार में उतारा जाता है। जो कानूनी रूप से बहुत ही रंगीन मामला है। जिस पर बांग्लादेश शिकंजा कसने में नाकाम दिख रही है।



  • ब्राजील में खुद के लिए देह व्यापार (Prostitution) करना बिलकुल जायज़ है लेकिन इसको संगठन बना कर लोगों को देह व्यापार के लिए रखना कानूनी अपराध है। इस देश की सब से बड़ी समस्या है कि यहाँ पर बच्चों और लड़कियों को इस व्यापार में जबरन उतारा जाता है। जिस पर साकार कुछ भी करने में असमर्थ दिख रही है।
  • आप अगर बिना कंडोम के नवेदा में संभोग करते है तो आप गैर कानूनी काम कर रहे है। आप का यहाँ पर संभोग करने के समय कंडोम पहनना जरूरी है।



  • हस्तमैथुन करते समय पकड़े गए तो इण्डोनेशिआ में देश में सिर धड़ से अलग करने का कानून है।
(यह जानकारी लोगों के बयानों पर आधारित है। मैं इन तथ्यों के सही या गलत होने की पुष्टि नहीं करता हूँ।)

न्यू यॉर्क, अमेरिका के पर्यटन स्थल (New York, America tourist destination)



अमेरिका (America) का न्यू यॉर्क (New York) राज्य बहुत ही सुन्दर है। यहाँ पर हर साल लाखों यहाँ के पर्यटन स्थल को देखने के लिए आते है। न्यू यॉर्क हर तरह के पर्यटक के लिए बहुत ही अच्छी जगह है घूमने के लिए। आइए आज हम बात करते है न्यू यॉर्क का पर्यटन स्थल (tourist place) के बारे में।




स्टेचू ऑफ़ लिबर्टी (Statue of Liberty)


स्टेचू ऑफ़ लिबर्टी (Statue of Liberty) अमेरिका (America) के न्यूयोर्क (New York) शहर में लिबर्टी द्वीप पर स्थित एक बहुत ही सुन्दर बहुत बड़ी मूर्ति है। इस मूर्ति को "लिबर्टी इनलाइटिंग द वर्ल्ड" के नाम से भी जाना जाता है। स्टेचू ऑफ़ लिबर्टी ताँबे से बानी मूर्ति है। इस मूर्ति को आज़ादी का प्रतीक माना जाता है। रोमन देवी लिबर्टस के सम्मान में इसे बनाया गया है। एक हाथ में जलती हुई मशाल और दूसरे हाथ में किताब को प्रदर्शित किया गया है। अमेरिका के आज़ाद होने की तारीख 4 जुलाई 1776 को इस किताब पर लिखा गया है।




स्टेचू ऑफ़ लिबर्टी (Statue of Liberty) अमेरिका के गौरव को बयान करती है। मूर्ति के पैरो से शीर्ष तक पहुंचने के लिए 354 सीढ़ियाँ पर चढ़ना पड़ता है। मूर्ति की चढ़ाई काफी घुमावदार है। स्टेचू ऑफ़ लिबर्टी मूर्ति के सिर पर बने मुकट में 7 कीले को गढ़ा हुआ दिखाया गया है। मूर्ति मुकुट में 25 खिड़की बनाई है, जहाँ से पर्यटक मूर्ति के अंदर देख सकते है। 225 टन के करीब इस विशाल मूर्ति का वजन है। इतिहासकार कहते है कि इस मूर्ति को बनाने में करीब 9 साल का समय लगा था। फ्रांस ने यह मूर्ति (1886 में) अमेरिका (America) को दोस्ती के 100 साल पूरे होने पर भेंट में दी थी। फ्रांस और अमेरिका के लोगों ने मिलाकर इस मूर्ति को बनाने के लिए पैसा दिया था।




स्टेचू ऑफ़ लिबर्टी का डिज़ाइन दुनिया के मशहूर वास्तुकार फ्रेडरिक ऑगस्ट बर्थोलोडी ने बनाया था। आधार से शीर्ष तक की ऊँचाई 93 मीटर और लंबाई 151 फुट लेकिन आधार से मशाल तक ऊँचाई 305 फुट है।





टाइम्स स्क्वायर (Times Square)


"द चौराहा ऑफ़ द वर्ल्ड" के नाम से जाने जाना वाला न्यूयोर्क (New York) का प्रमुख स्थल टाइम्स स्क्वायर है। पर्यटक यहाँ पर रात को 2 टका सकते है। यहाँ भीड़ रात को भी दिन जैसी होती है। टाइम्स स्क्वायर में वोग वार और बिस्ट्रोस के द्वारा बनाए संगीत का आनंद ले सकते है। एन बी सी का प्रसिद्ध रेडियो स्टेशन भी यही पर स्थित है। नए साल के आने की ख़ुशी में यहाँ पर बहुत से कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। दुनिया के कोने कोने से लोग यहाँ पर नया साल मनाने के लिए यहाँ पर आते है।




एम्पायर स्टेट बिल्डिंग (Empire State Building)


एम्पायर स्टेट बिल्डिंग एक बहुत ऊंची इमारत है। 1930 में इस इमारत का निर्माण किया गया था। चुना पत्थर के द्वारा इस बिल्डिंग का निर्माण किया गया है। यह इमारत मिडटाउन शहर के मेगनहट हिस्से में स्थित है। इस इमारत की ऊँचाई 102 मंज़िल के बराबर है। हर साल लाखों लोग इस सुंदर इमारत को देखने के लिए यहाँ पर आते है।




दी मेट्रोपोलिटन म्यूजियम ऑफ़ आर्ट (The Metropolitan Museum of Art)


न्यूयॉर्क (New York) के सब से प्रसिद्ध पर्यटक स्थलों में से एक का नाम दी मेट्रोपोलिटन म्यूजियम ऑफ़ आर्ट है। दी मेट्रोपोलिटन का निर्माण 1870 में किया गया था। 5 हजार साल से पुराना इतिहास इस म्यूजियम में संभाल कर रखा गया है। यहाँ पर्यटकों के देखने के लिए कला के ऐतिहासिक अवशेष भी है। मैरिसा का सब से बड़ा संग्रहालय भी यही है।




सेंट्रल पार्क (Central Park)


सेंट्रल पार्क बहुत ही सुन्दर जगह है घूमने के लिए। ट्रैकिंग करने वाले लोगों के लिए बहुत ही रोमांचकारी पार्क है। इस पार्क में कई क़िस्मों की प्रजातियो वाली चिड़िया और झीलें आम ही देखने को मिल जाएंगी। सेंट्रल पार्क में सिर्फ शाम तक ही पर्यटकों को रुकने की आज़ादी है। हॉलीवुड फिल्में और कई टीवी प्रोग्राम इस पार्क में बनाए गए है।




ब्रुकलिन ब्रिज (Brooklyn Bridge)


1883 में ब्रूकलिन ब्रिज का निर्माण हुआ था। यह अमेरिका (America) का सब से पुराना पुल है। इस पुल पर लोग सिर्फ पैदल ही चल सकते है। मैनहट्टन और ब्रूकलिन शहरों को आपस में  जोड़ने का काम करता है। ब्रूकलिन पुल को बनाने के लिए चुना पत्थर, सीमेंट और ग्रे नाइट का उपयोग किया गया है। यह पल पर्यटकों को खुद बा खुद अपनी तरफ खींचने का काम करता है।




न्यू यॉर्क पब्लिक लाइब्रेरी (New York Public Library)

दुनिया की चौथी सब से बड़ी लाइब्रेरी का नाम न्यू यॉर्क पब्लिक लाइब्रेरी है। संगमरमर पत्थर से इस लाइब्रेरी का निर्माण हुआ है। यहाँ पर जाने का कोई शुल्क नहीं लगता है। न्यू यॉर्क पब्लिक लाइब्रेरी पुस्तकालय में हर विषय के ऊपर कोई ना कोई किताब ज़रूर मिल जाएगी। किसी भी लेखक की सिर्फ एक किताब इस पुस्तकालय में रखी जाती है। यहाँ पर बहुत बड़ी संख्या में पर्यटक हर साल आते है। 




सेंट पैट्रिक कैथेड्रल (Saint Patrick's Cathedral)


सेंट पैट्रिक कैथेड्रल चर्च, न्यू यॉर्क के बहुत ही सुंदर और शांतिमय स्थानों में से है। यहाँ पर प्रतिदिन बहुत लोग प्रार्थना करने के लिए आते है। लोग चर्च में जाकर मोमबत्तियां भी जलाते है। लोगों को सेंट पैट्रिक चर्च में आ कर बहुत ही ज्यादा शांति मिलती है। दिल पर छायी उदासी प्रार्थना करने से ही पलो में दूर हो जाती है।




वॉल स्ट्रीट (Wall Street)


वॉल स्ट्रीट व्यापारिक लोगों के लिए जानी जाती है। यह व्यापारियों के लिए बहुत ही अच्छा पर्यटन स्थल है।  वॉल स्ट्रीट में एक बैल की मूर्ति बानी हुई है। यह बैल की मूर्ति चार्ज की जाती है। स्टॉक एक्सचेंज भी यहाँ पर पर्यटकों को देखने को मिलता है। स्टॉक एक्सचेंज को घूम कर देखने का अनुभव बहुत ही शानदार है। 




ग्रैंड सेंट्रल टर्मिनल (Grand Central Terminal)

44 प्लेटफॉर्म वाले मेट्रो स्टेशन का नाम ग्रैंड सेंट्रल टर्मिनल है। अमेरिका के हर राज्य की मेट्रो ट्रेन यहाँ से चलती है। ग्रैंड सेंट्रल टर्मिनल पर बहुत सारी मूर्तियां है जो पर्यटकों को आसानी से अपनी तरफ खींच लेती है।




रॉकफेलर सेंटर (Rockefeller Center)


रॉकफेलर शहर के अंदर स्थित है। न्यू यॉर्क (New York) में जाने वाले पर्यटक आसानी तक रॉकफेलर तक पहुंच जाते है। यहाँ पर 19 ऐतिहासिक इमारतें होने के कारण न्यू यॉर्क बहुत ज्यादा अमेरिका में मशहूर है। यहाँ पर बहुत बड़े स्तर पर ट्री लाइटिंग के लिए जाना जाता है। यहाँ के लोगों को संगीत सुनना बहुत ज्यादा पसंद है।




खाना और कब जाए? (Food and When Visit)


न्यू यॉर्क में हॉट डॉग बेक किये हुए, पिज़्ज़ा (Pizza), ब्रेड्स केक्स (Bread cakes), फ्राई चिकन (Fry chicken) के अलावा भारतीय व्यंजन बहुत ज्यादा पसंद किये जाते है। जुलाई के महीने में अमेरिका (America) का आज़ादी दिवस मनाया जाता है। इस समय जाना बहुत बढ़िया रहता है।

1500 मौतों का गवाह जानिए कौन? (Know who is the witness of 1500 deaths)



वैसाखी वाले दिन 13 अप्रैल 1919 को जालिआंवाला बाग (Jallianwala bagh), अमृतसर (Amritsar)  में जनरल डायर (General Dyer) के हुकम पर निहत्थे लोगों पर अंधाधुंध गोलियों की बौछार की गयी थी, जिसमें सूत्रों के अनुसार 1500 लोगों ने अपनी जान को गवा दिया था। इस हत्या कांड की पूरी दुनिया में बहुत ज्यादा निंदा हुई थी। सरदार उधम सिंह ने जनरल डायर (General Dyer) को मार कर इस हत्याकांड (massacre) का बदला लिया था। आइए जलिआंवाला बाग हत्याकांड पर पूरे विस्तार से बात करते है।




जलिआंवाला बाग की स्थिति (Jallianwala Bagh Location)


जलिआंवाला बाग (Jallianwala bagh) अमृतसर (Amritsar) शहर में गोल्डन टेम्पल (Golden temple) गुरुदुवारा साहिब के बिलकुल पास में है। यह बाग़ 200 गज लम्बा और 100 गज चौड़ा है। जलिआंवाला बाग़ तीन तरफ से दीवारों से घिरा हुआ है। इसके एक तरफ बहुत ही छोटा सा रास्ता है। इस रास्ते से ही बाग़ में प्रवेश और बाहर आ सकते है। बाग़ में केवल एक कुआँ है।




जलिआंवाला बाग हत्या काण्ड (Jallianwala Bagh Massacre)


हिंदुस्तान को आजादी दिलवाने में बहुत से लोगों का योगदान रहा है। जाने कितनी ऐसे लोग है जिनके कभी नाम भी नहीं सामने आ पाए। जलिआंवाला बाग ऐसे ही शहीदों की क़ुरबानी को चीख चीख कर बता रहा है। अप्रैल 1919 में आजादी की लड़ाई लड़ने वाले सैफुद्दीन किचलू और सत्यपाल नेताओं को अंग्रेजी सरकार ने कैद कर लिया था। जिसके बाद 13 अप्रैल 1919 को गिरफ्तारी के विरोध में शांतिमय ढंग से विरोध करने के लिए लोग जलिआंवाला बाग़ में इकट्ठे हुए थे। यह सभी लोग बिलकुल निहत्थे थे, जिनके पास किसी भी प्रकार का कोई हथियार नहीं था। बच्चे, बूढ़े, जवान, औरत सभी इस शांतिमय विरोध में इकट्ठे हुए थे।




जनरल डायर (General Dyer) ने कोई भी बड़ा विरोध ना हो, इसलिए उसने किसी भी प्रकार के जलसे पर रोक लगा दी थी। जब उसे पता चला की एक बहुत बड़ा जलसा आयोजित किया गया है, जलिआंवाला बाग़ (Jallianwala bagh) में, वह 50  सिपाहियों को ले कर बाग़ पर पहुंच गया। 50 सिपाहियों के पास मशीन गन थी। डायर के आदेश पर अंधाधुंध गोलियों की बौछार शुरू हो गयी, बाग़ में लोगों के इतने बड़े इकट्ठ में भगदड़ मच गयी। कुछ लोग जान बचाने के चक्कर में कुए में कूद गए। गोलियों की बौछार इतिहासकारों के बयानों से करीबन 10 मिनट तक चली थी। दस मिनट के अंदर अंदर सारा असला खत्म हो गया था। बाग़ का एक ही छोटा रास्ता होने के कारण कोई भी बाहर नहीं जा सका।




जलिआंवाला बाग़ के इस हत्याकांड में सरकारी सूत्रों के हिसाब से लगभग 379 लाशें और 1100 के करीब जख्मियों की पहचान की गयी थी। कुछ एजेंसियों के अनुमान से 1500 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है। जिनमें 6 माह का बच्चा, औरतें, बच्चे, बूढ़े, जवान लोग शामिल थे। बाग़ के कुएं में 120 लोगों की लाशें मिली थी। यह बहुत ही भयानक मंजर था। जनरल डायर द्वारा किये इस हत्याकांड (Massacre) की निंदा पूरी दुनिया में हुई थी। इस हत्या कांड ने दुनिया के हर शख्स को हिला कर रख दिया था। रविंदर नाथ टैगोर ने इस घटना से आहत हो कर सर की उपाधि को वापिस कर दिया।




जलिआंवाला बाग (Jallianwala bagh) की दीवारों पर गोलियों के निशान आज भी देखे जा सकते है। इस हत्या कांड (Massacre) के बारे में सोच कर ही दिल रो उठता है। सरदार उधम सिंह (Sardaar udham singh) ने जनरल डायर को कॉक्सटन हॉल में अपनी पिस्तौल से 13 साल के बाद गोलियों से भून डाला था। जिसके बाद सरदार उधम सिंह में खड़े रह कर अपनी गिरफ्तारी दी थी। जिसके बाद उन्हें फांसी की सज़ा दी गयी थी।




जलिआंवाला बाग में स्मारक (Jallianwala Bagh Memorial)


इस दर्दनाक मंजर की याद में जलिआंवाला बाग (Jallianwala bagh) में एक स्मारक (Memorial) बनाया गया। गोलियों के निशान को भी सुरक्षित रखा गया है। लाखों की तादात में पर्यटक इस बाग़ में आ कर उस दर्दनाक पलों को जीने की कोशिश करते है। यहाँ पर एक संग्रहालय भी बनाया गया है। जलिआंवाला बाग़ पहुंचने के लिए पर्यटक हवाई और सड़क मार्ग दोनों में से कोई भी चुन सकते है। पर्यटक बाग़ आने के साथ साथ गोल्डन टेम्पल और वाघा बॉडर पर भी जा सकते है।

सैन फ्रांसिको, अमेरिका में घूमने वाले स्थान (San Francisco, America mein ghumane wale sthaan)






सारी दुनिया में नाइटलाइफ़ (Nightlife) के लिए मशहूर अमेरिका (America) का सैन फ्रांसिको (San Francisco) है। नाइटलाइफ़ आज के हर युवा की पसंद बन चुका है। हर कोई सैन फ्रांसिको के क्लब में नाइटलाइफ़ का आनंद लेना चाहता है। नाइटलाइफ़ के अलावा यहाँ बहुत कुछ है पर्यटकों के घूमने के लिए। आइए आज हम बात करते है सैन फ्रांसिको के पर्यटक स्थल के बारे में (San Francisco, America tourist place)।




गोल्डन गेट ब्रिज (Golden Gate Bridge)


गोल्डन गेट ब्रिज सैन फ्रांसिको (San Francisco) के खूबसूरत स्थानों में से एक है। इस ब्रिज को अमेरिका की अमेरिकन सिविल सोसाइटी ऑफ़ इंजीनिअर्स संस्था ने इस ब्रिज को दुनिया के सात अजूबों की सूची में शामिल किया है। गोल्डन गेट ब्रिज को पर्यटकों के लिए 1937 में खोला था। यह बहुत ही सुन्दर सेतु है।




अलकटराज़ आइलैंड (Alcatraz Island)


अलकटराज़ आइलैंड एक सुन्दर द्वीप है। 1930 से लेकर 1960 के समय तक यह एक जेल के रूप में जाना जाता था। होलीवुड फिल्मों में इस द्वीप के दृश्यों को अकसर दिखाया जाता है। यहाँ का वातावरण बहुत ही बढ़िया है पर्यटकों के लिए। रंग बिरंगे फूल, चारों तरफ हरियाली ही हरियाली अपने आप ही पर्यटक अलकटराज़ आइलैंड पर फ़िदा हो जाते है।






केबल कार (Cable Car)


केबल कार सैन फ्रांसिको (San Francisco) में 19 वी शताब्दी में शुरू हुई थी। केबल कार की सवारी लोगों को रोमांच से भर देती है। यह यात्रा करने का ऐतिहासिक ढंग है। सैन फ्रांसिस्को में 23 में से अब सिर्फ तीन केबल मार्ग बचे है। जिनके नाम पॉवेल-मेसन, पॉवेल-हाइड, कैलिफोर्निया स्ट्रीट लाइन है। यहाँ आने वाले पर्यटक केबल कार का ही ज्यादा उपयोग करते है।


होटल यूनियन स्क्वायर में बुकिंग के लिए यहाँ पर क्लिक करे




वाल्ट डिज़्नी फॅमिली म्यूजियम (Walt Disney Family Museum)


वाल्ट डिज़्नी के जीवन से जुडी कहानियों को ब्यान करने वाला वाल्ट डिज़्नी फॅमिली म्यूजियम है। वाल्ट डिज़्नी फॅमिली म्यूजियम में वाल्ट को मिले 248 सन्मान को प्रदर्शित किया जाता है। इस संग्रहालय में सात बौने ऑस्कर ट्रॉफी भी मुख्य आकर्षण है। दुनिया के कोने कोने से पर्यटक इस म्यूजियम को देखने के लिए यहाँ पर आते है।





एशियाई आर्ट म्यूजियम (Asian Art Museum)


एशियाई कला संग्रह सैन फ्रांसिको (San Francisco) का एक ऐतिहासिक स्थान है। पश्चिमी गोलार्ध में एशियाई कला कृतियों का सब से बड़ा म्यूजियम है। यह म्यूज़ियम बड़ी ही आसानी से लोगों को अपनी तरफ खींच लेता है। 6000 वर्षों से भी पुराना संग्रहालय, 18000 कला कृतियाँ, समुराई कवच, पेंटिंग, मूर्तियां शामिल है।





फिशरमैन'स व्हार्फ (Fisherman's Wharf)


मछुआरों और पर्यटकों के लिए बहुत बढ़िया स्थान फिशरमैन'स व्हार्फ है।  यह पर्यटक स्थल अमेरिका के पश्चिम में स्थित है। फिशरमैन'स व्हार्फ के तट पर होटल्स, म्यूजियम, स्मृति चिन्हों की दुकानें भी शामिल है। पर्यटकों के लिए यह बहुत ही बढ़िया स्थान है। यहाँ की ठंडी ठंडी हवा आसानी से पर्यटकों के दिल को  जीत लेती है।


लॉस वेगास, अमेरिका के पर्यटन स्थल के बारे में जानकारी यहाँ पढ़े




यूनियन स्क्वायर (Union Square)


यूनियन स्क्वायर में सुन्दर होटल, बार, रेस्टोरेंट, इंटरनेशनल ब्रांड के कपड़े, बुटीक स्थित है। इस स्क्वायर के आसपास ऐतिहासिक इमारतें, नाइके, एप्पल स्टोर के साथ विक्टोरिया सीक्रेट देखने वाले स्थान है। ऐतिहासिक सेंट फ्रांसिस स्कूल और फ्रेंच क्वार्टर यूनियन स्क्वायर की शोभा बढ़ाते दिखते है। यह एक पॉश इलाका है।




टविन पीक्स (Twin Peaks)


टविन पीक्स दो सुन्दर जुड़वा चोटियां के लिए जाना जाता है। इन चोटियों का नाम नोए और यूरेका है। यह चोटियां समुद्र तल से करीब 282 मीटर की ऊँचाई पर है। नोए और यूरेका की चोटियों की ऊँचाई से दूर दूर तक के खूबसूरत नज़ारे देखने को मिलते है। टविन पीक्स के आस पास का क्षेत्र बहुत ही लुभावना है। यह स्थान बहुत ही आराम से पर्यटकों के दिल को जीत लेता है।




कैलिफ़ोर्निया अकादमी ऑफ़ साइंस (California Academy of Sciences)


कैलिफ़ोर्निया अकादमी ऑफ़ साइंस सैन फ्रांसिको (San Francisco) का बहुत ही सुन्दर स्थान है। यहाँ विज्ञान से सम्बंधित 26 मिलियन वस्तुओं को रखा गया है। कैलिफ़ोर्निया अकादमी ऑफ़ साइंस ने इन वस्तुओं को 12 भागो में विभाजित किया है। मॉरिसन प्लेटेरियम, 23 मीटर व्यास वाली स्क्रीन, ओशेरो रेन फारेस्ट इस साइंस अकादमी के मुख्य आकर्षण है। कैलिफ़ोर्निया अकादमी ऑफ़ साइंस का कहना है कि यहाँ पर करीब 40000 से ज्यादा जानवर होने की बात कहती है।




ग्रेस कैथेड्रल (Grace Cathedral)


ग्रेस कैथेड्रल एक बहुत ही सुन्दर चर्च है। इस चर्च की ऊँचाई 53 मीटर है। ग्रेस कैथेड्रल की बनावट फ्रेंच गोथिक की तर्ज पर बनी है। पर्यटकों के देखने के लिए बहुत बढ़िया स्थान है।





रोचक तथ्य (Interesting Fact)


सैन फ्रांसिको (San Francisco) में नाइटलाइफ़ (Nightlife) का आनंद लेने के लिए कम से कम उम्र 21 साल होनी बहुत जरूरी है। 1859 में चाँदी की खोज की। 1927 में फिलियो फांसरवरथ ने पहला इलेक्ट्रिक टीवी सैन फ्रांसिको में रह कर ही आविष्कार किया था। सैन फ्रांसिको सिर्फ 7 मील चौड़ा और सात मील लम्बा है। यहाँ की राष्ट्रीय भाषा इंग्लिश है। यहाँ पर सब से ज्यादा आबादी ईसाई और यहूदी लोगों की है। फ़रवरी के महीने में हर साल वाइन प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है। कहते है कि सन 1906 में आये तूफान ने इस क्षेत्र को करीब 90% तबाह कर दिया था।

मध्य प्रदेश के त्यौहारों की जानकारी (Madhya Pradesh festival information)



भारत (India) देश एक लोकतांत्रिक देश है। जहाँ कई धर्मों के लोग रहते है। बहु धर्मी देश होने के कारण इस देश में बहुत सारे त्यौहार (Festivals) मनाये जाते है। भारत के अलग अलग राज्यों में एक के बाद त्यौहार मनाया जाता है। हर राज्य के त्यौहार को मनाने का रिवाज अलग होता है। आज हम बात करते है मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में मनाये जाने वाले त्यौहारों के बारे में।




अखिल भारतीय कालिदास समारोह (Akhil Bhartiya Kalidas Samaroh)


भारत देश के प्राचीन महान कवि कालिदास जी के सन्मान में अखिल भारतीय कालिदास समारोह का उत्सव (Festival) मनाया जाता है। यह उत्सव मध्य परदेश (Madhya Pradesh) में सात दिनों तक चलता है। इस उत्सव में शामिल होने के लिए दुनिया के कोने कोने से लेखक यहाँ पर आते है। सभी लेखक अपनी अपनी रचनाओं से लोगों का दिल जीतने कि कोशिश करते है। इस उत्सव में बहुत से नाटकों का आयोजन भी किया जाता है।




खुजराहो उत्सव (Khajuraho festival) 


सात दिनों तक खुजराहो उत्सव मध्य प्रदेश में बड़ी ही धूमधाम के साथ मनाया जाता है। यह उत्सव चित्र गुप्त और विश्वनाथ मंदिर के सामने खुले मैदान में मनाया जाता है। खुजराहो उत्सव में कत्थक, भरतनाट्यम, ओडिसी, कुचिपुड़ी, मणिपुरी, और कथककली जैसे कई प्रकार के नृत्यों का आयोजन किया जाता है। खुजराहो का उत्सव उन लोगों के सन्मान में मनाया जाता है, जिन्होंने इस मंदिर का निर्माण करवाया था। इस उत्सव के दौरान इस मंदिर को बहुत बढ़िया ढंग से सजाया जाता है।




लोक रंग उत्सव (Lokrang Festival)


आदिवासी लोक कला अकादमी हर साल लोक रंग उत्सव मध्य प्रदेश में आयोजित करती है। यह बहुत ही लोगों में लोकप्रिय उत्सव है। लोक रंग उत्सव में सभी नर्तक आगे की तरह पैर बढ़ा कर नृत्य करते है। इस उत्सव में बहुत सारे नृत्य लोगों के समक्ष पेश किये जाते है। मध्य प्रदेश आदिवासी लोगों के द्वारा बनाये गए हस्त निर्मित चीज़ों की प्रदर्शनी लगाई जाती है। लोक रंग त्यौहार को आयोजित करने का मकसद भारत को एक देश के रूप में दिखाना है।


भारत के किसी भी कोने जल्दी पैसे भेजने के लिए और शॉपिंग पर डिस्काउंट पाने के लिए यहाँ क्लिक करे




भगोरिया हाट उत्सव (Bhagoria haat festival)


भगोरिया हाट उत्सव मध्य प्रदेश में भील जाति के द्वारा मनाया जाता है। इस उत्सव में लड़का, लड़की एक दूसरे को पसंद करने पर एक दूसरे के गालों पर लाली लगाते है। अपना अपना जीवन साथी पसंद करने के बाद लड़का लड़की मैदान से भाग जाते है। ऐसे जीवन साथी पसंद करने पर माँ बाप किसी प्रकार का एतराज नहीं जता सकते है। भील जाति के कुछ लोगों का ये भी कहना है की भगोरिया उत्सव फसल की कटाई के समय आयोजित किया जाता है।




होली (Holi)


होली (Holi) का त्यौहार मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) साथ पूरे देश में बड़ी धूमधाम के साथ मनाया जाता है। होली वाले दिन के बाद से ठंड (सर्दियां) खत्म होने लगती है। होली वाले दिन लोग एक दूसरे को गले मिलकर रंग लगाते है। ढोल की धुन पर लोग नाचते है। मध्य प्रदेश में होली के 5 दिन के बाद आदिवासी समूह के लोग रंग पंचमी का त्यौहार मानते है। सैलानी विशेष तौर पर यहाँ पहुंचते है, होली का त्यौहार मनाने के लिए।




कुम्भ मेला (Kumbh mela) 


भारत (India) का सब से बड़ा मेला कुम्भ का मेला होता है। कुम्भ का मेला भारत के चार बड़े शहरों में एक साथ मनाया जाता है।  इन शहरों के नाम इलाहाबाद, हरिद्वार, उज्जैन और नासिक है। यह मेला 12 सालो में 4 बार मनाया जाता है। हिन्दू मान्यताओं के अनुसार इस समय पवित्र गंगा नदी में डुबकी लगाने से लोगों के किये पाप धुल जाते है। कुम्भ के मेले में कई प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। हस्त निर्मित चीज़ों की प्रदर्शनी भी लगाई जाती है। भारत के कोने कोने से हलवाई कारीगर अपनी अपनी कारीगरी का जौहर स्वादिष्ट पकवान बनाकर दिखाते है।




मालवा उत्सव (Malwa utsav)


मालवा उत्सव दुनिया के कलाकारों को एक मंच देता है अपनी अपनी प्रतिभा दिखाने का। यह उत्सव मध्य प्रदेश में बड़े उच्च स्तर पर मनाया जाता है। दुनिया के कोने कोने से मालवा उत्सव में शामिल होने के लिए अलग अलग कला के माहिर लोग आते है। इस त्यौहार को संस्कृति का त्यौहार कहना बिलकुल भी गलत नहीं होगा। कला के साथ इस त्यौहार में हस्त निर्मित चीज़ें और स्वादिष्ट व्यंजनों का लोग बहुत ज्यादा लुत्फ उठाते है।



दशहरा (Dussehra)


दशहरा (Dussehra) उत्सव भारत के हर राज्य में मनाया जाता है पर मध्य प्रदेश में यह काफी बड़े स्तर पर मनाया जाता है। दशहरा को विजयादशमी का त्यौहार भी कहा जाता है। हिन्दू धर्म की मान्यता अनुसार दशहरा नवरात्रे के दसवें दिन रावण पर राम की विजय के उपलक्ष्य के रूप में मनाया जाता है। इस दिन लोग रावण, मेघनाथ, कुम्भ करण के पुतले जलाकर दशहरा उत्सव मानते है। लोग नए कपड़े पहनते और मिठाइयां कहते है।




नाग जी का मेला (Naag ji ka mela)


आदिवासी क्षेत्र मध्य प्रदेश के लोगों का बहुत ही खास नाग जी का मेला उत्सव है। मुग़ल सम्राट अकबर के समय में बहुत ही माने हुए संत नाग जी के सम्मान में नाग जी उत्सव मनाया जाता है। इस मेले की शुरुआत में बंदर का व्यापार किया जाता था लेकिन आज इस त्यौहार में हर प्रकार के घरेलू जानवर की खरीद फरोख्त की जाती है। नाग जी के मेले में कई प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन भी किया जाता है।




चिठीयागिरी विहार उत्सव (Chetiyagiri vihara utsav)


चिठीयागिरी विहार उत्सव मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के साँची शहर में आयोजित किया जाता है। इस उत्सव में बौद्ध भिक्षुओं और तीर्थ यात्रियों के द्वारा हिस्सा लिया जाता है। चिठीयागिरी उत्सव में भिक्षुक और यात्री बौद्ध के सब से पहले दो शिष्य साडी पुथा और महा मोगलाना के अवशेषों के दर्शन करते है। यह अवशेष 1853 में सपूत 3 विहार में रखे गए है। जिनको उत्सव के दौरान तीर्थ यात्रियों को दिखाए जाते है।




तानसेन संगीत समारोह (Tansen sangeet samaroh)


मुग़ल सम्राट अकबर के दरबार के नौ रत्नों में संगीतकार तानसेन (Tansen) एक थे। तानसेन संगीत समारोह तान सेन के मकबरे के नीचे चार दिनों के लिए आयोजित किया जाता है। यह उत्सव संगीत प्रेमियों के लिए बहुत अच्छा उत्सव है। इस उत्सव में नए नए कलाकारों को एक बहुत बड़ा मंच दिया जाता है। यहाँ पर आये संगीत कला के माहिर लोगों का दिल आराम से जीत लेते है। 




दीवाली (Diwali)


दीवाली (Diwali) का त्यौहार (festival) सारे देश में पुरी धूमधाम के साथ मनाया जाता है। दीवाली का त्यौहार राम के 14 साल के वनवास के बाद अयोध्या लौटने के उपलक्ष्य में मनाया जाता है। मध्य प्रदेश में यह उत्सव 5 दिन बड़ी धूमधाम के साथ मनाया जाता है। इस दिन लोग अपने घरों के बाहर दीये जलाते, मिठाइयां खाते और नए कपड़े पहनते है। दीवाली वाले दिन लोग माता लक्ष्मी की पूजा करते है। लोगों का मानना है कि इस दिन लक्ष्मी माता की पूजा करने से धन घर में आता है।




पंच मढ़ी त्यौहार (Pachmarhi festival)


मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) का बहुत ही आकर्षक त्यौहार पंच मढ़ी उत्सव है। पंच मढ़ी उत्सव में कला प्रदर्शन के द्वारा संगीत, नृत्य और शिल्प कला को प्रस्तुत किया जाता है। देश विदेश से कलाकार पंच मढ़ी उत्सव में हिस्सा लेने के लिए मध्य प्रदेश में आते है। इस उत्सव में ज्यादा से ज्यादा लोक कलाओं का प्रदर्शन किया जाता है। कारीगरों के बनाये गए सामान को बेचने के लिए बहुत सारे स्टाल लगाए जाते है। विभिन्न प्रकार के व्यंजनों के स्वाद भी लोग यहाँ पर आ कर लेते है।