शुक्रवार, 25 अक्तूबर 2019

लिथुआनिया वीज़ा और पर्यटन स्थल की जानकारी (Lithuania visa Tourist place Information)




आज हर कोई चाहता है कि वह ऐसी जगह जाए, जहाँ हरियाली और शांति हो। आप भी अगर ऐसी किसी टूर पर जाना चाहते है तो, लिथुआनिया जाए। यह बहुत ही सुन्दर और शांति से भरा देश है। यह शेनेगन (Schengen) देशों में आता है। आप के पास यूरोप के किसी भी देश का वीज़ा है तो आप यहाँ पर आ सकते है। दूसरा आप सीधे रूप से वीज़ा आवेदन कर के भी आ सकते है। आइए आज हम बात करते है, लिथुआनिया वीज़ा (Lithunia Visa) और पर्यटन स्थल (Tourist place) के बारे में।




वीज़ा (Visa):- लिथुआनिया (Lithuania) देश शेनेगन देशों में आता है। इस देश में प्रवेश करने के लिए आप को शेनेगन वीज़ा (Schengen visa) लेना  होगा। शेनेगन वीज़ा (Schengen visa) कैसे ले? इसकी जानकारी आप लिंक में दी गयी है। 

आप इस लिंक को क्लिक करे:- https://mytraveldreamforme.blogspot.com/2019/10/schengen-tourist-visa.html




मौसम (Whether)


इस देश का मौसम सितम्बर (September) से ले कर मार्च (March) तक का मौसम बहुत ज्यादा सर्द होता है। सर्दियों में यहाँ के मौसम का तापमान माइनस 20 से 25 डिग्री तक चला जाता है। इस समय वही लोग इस देश में जाए, जिनको स्कीईंग करनी हो। अप्रैल से ले कर अगस्त के महीने तक ना बहुत गरम ना सर्द रहता है। कई बार मौसम बीच बीच में पलटी भी मार जाता है। आप को गरम कपड़ों कि जरूरत भी पड़ सकती है।




विल्नुस (Vilnius) 

लिथुआनिया (Lithuania) की राजधानी का नाम विल्नुस (Vilnius) है। यह बहुत ही खूबसूरत राज्य है। विल्नुस में आप को वास्तु कला के साथ, म्यूजियम भी देखने को मिलेंगे। इसके प्रमुख स्थान घूमने के लिए, जिनका विवरण नीचे दिया है।




  • ओल्ड टाउन (Old town):- ओल्ड टाउन में आप को लिथुनिअन ज्यूयिश के साम्राज्य के निशान देखने को मिलेंगे। यह शहर बिलकुल भीड़ भाड़ से अलग है। यहाँ पर वास्तुकला आप का दिल आराम से जीत लेगी।




  • सैंट एनीस चर्च (Sant Anees church):- यह गिरजा घर अपनी खूबसूरती के लिए दुनिया भर में प्रसिद्ध है। इसकी खूबसूरती को देख कर नेपोलियन ने कहा था कि संभव होता तो में इस गिरजा घर को हाथ से उठाकर पेरिस ले जाता।



  • सैंट्स पीटर ऐंड पौल चर्च (Sants peter and poul church):- इस चर्च के बाहर बहुत पुरानी नक्काशी की गयी है। जब आप इस गिरजा घर के अंदर जाते है तो आप की आंखें इस की सुंदरता को देख कर फटी की फटी रह जाती है।



  • केजीबी म्यूजियम (K G B Museum):- इस म्यूजियम एक सैल है, जिसमें कम्युनिजम के खिलाफ जाने वाले लोगों को सैल में बंद किया जाता था। इस सैल में बंद लोगों को तसीहें देकर गोली मारी जाती थी। यह बहुत ही क्रूरता वाला कार्य था। अब केजीबी म्यूजियम का रूप दिया गया है। इस म्यूजियम में फोटो गैलरी के साथ, उस समय प्रयोग किया जाने वाला गोला बारूद, बंदूक को रखा गया है।



  • गैदीमिनास टावर (Gediminas tower):- गैदीमिनास टावर से पर्यटक विल्नुस की खूबसूरती को देखते हैं। इस टावर का नाम बहुत ही मशहूर ग्रैंड ड्यूक गैदीमिनास (Gediminas) नाम के व्यक्ति के पड़ा। इस आदमी ने विल्नुस (Vilnius) शहर को बसाया था।



  • गेट ऑफ़ डॉन (Gate of dawn):- गेट ऑफ डॉन का निर्माण 16 वी शताब्दी में किया गया था। इस गेट को विल्नुस (Vilnius) की सुरक्षा के लिए बनाया गया था। इस गेट की दीवार में 9 दरवाज़े लगाए गए थे। यहाँ पर की गयी वास्तुकला अद्भुत कला का नमूना है।



  • मनी म्यूजियम (Money Museum):- मनी म्यूजियम (Money Museum) में इस देश के पुराने नोटों को, सिक्कों को, कई प्रकार की धातुओं से बने सिक्कों के साथ कई देशों की पुरानी करेंसी को भी रखा गया है।




कोनस (Kaunas)

ऐतिहासिक प्रैसिडैंशियल पैलेस : ऐतिहासिक प्रैसिडैंशियल पैलेस कोनस (Kaunas) के ओल्ड टाउन में स्थित है।  यह ऐतिहासिक प्रैसिडैंशियल पैलेस पर्यटकों को अपनी तरफ खुद ब खुद आकर्षित करता है। इस इमारत का निर्माण सन 1860 में किया गया था। जब 1920 में विल्नुस (Vilnius) आंतरिक युद्ध को निपटने की कोशिश में लगा था, उस समय कोनस (Kaunas) को लिथुआनिया की राजधानी बनाया गया था। यह महल राष्ट्रपति को रहने के लिए दिया था।




  • सैरामिक्स म्यूजियम (Ceramics museum):- सैरामिक्स म्यूजियम कोनस (Kaunas) के टाउन हॉल (Town hall) में स्थित है। यहाँ आने वाले पर्यटकों को प्राचीन काल में प्रयोग किए जाने वाले मिट्टी के बरतनों के इतिहास के बारे में जानकारी मिलती है।



  • ओपन एयर म्यूजियम (Open air museum):- ओपन एयर म्यूजियम (Open air museum) खुले मैदान में बनाया गया है। यहाँ पर 4 अलग अलग प्रकार की संस्कृति को दिखाया गया है। यहाँ पर पहले के समय में रहने वाले लोगों के घरों को, बर्तन, सिक्कों को, रहन सहन को बखूबी पेश किया है।  



  • डैविल म्यूजियम (Devil museum):- यहाँ पर अलग अलग प्रकार के शैतानों की मूर्तियों को रखा गया है। कहा जाता है कि शैतानों का पौराणिक इतिहास से सम्बन्ध है।



  • चिडि़याघर (Zoo):- लिथुआनिया में देश में सब से ज्यादा भीड़ देखनी हो तो, कोनस (Kaunas) के चिड़ियाघर में ही मिलेगी। यहाँ छुट्टी वाले दिन बहुत भीड़ रहती है। यह शहर के बिलकुल बीच में स्थित है। इस चिड़ियाघर में देश विदेश से लाए गए कई प्रकार के पशु-पक्षी, समुद्री जीव देखने को मिलेंगे। यहाँ आप को शेर, जिराफ, गैंडा, ऊँट, भालू, जैबरा, बंदर के साथ छोटे छोटे समुंदरी जीवों की करीब 2900 किस्में देखने को मिलेंगी। यहाँ आप को भारतीय मोर और तोता भी देखने को मिलेंगे।



  • ऐडवैंचर पार्क (Adventure park):- इस पार्क में पूरी सुरक्षा के साथ वैज्ञानिक ढंग से एडवेंचर खेल खेले जाते है। यह खेल साहसी लोगों के खेलने के लिए है। कमजोर दिल वाले ना खेले।



  • क्लीपेड़ा (Klaipeda) :-  आप को लिथुआनिया सी म्यूज़ियम, ब्लैकस्मिथ म्यूजियम, ओल्ड टाउन ऑफ़ क्लीपेड़ा देखने को मिलेगा।


  • ट्राकै (Trakai) आप को ट्राकै हिस्ट्री म्यूजियम, ट्राकै एथ्नोग्रापिक म्यूजियम, ऊजूतराकीश म्यूज़ियम, आप को देखने को मिलेंगे।

इसके अलावा अलग अलग राज्यों में बहुत सी चीज़ें देखने को आप को मिलेंगी। जिनमें ज्यादातर म्यूजियम होंगे।



इस देश में पेड़ो की लंबाई घरों से ज्यादा होती है। यहाँ पर ऊंची ऊंची घास को मशीनों के द्वारा काटा जाता है। यहाँ के गांव में आदमी बड़ी मुश्किल से दिखाई देंगे। इस देश का कानून बहुत सख्त होने के साथ मदद करने वाला है। यहाँ की 2012 तक की आबादी सिर्फ 30,0000 थी।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

कृपया कमेंट बॉक्स में कोई भी स्पैम लिंक न डालें।

अहमदाबाद गुजरात भारत के पर्यटन स्थल के बारे में विस्तार सहित जानकारी

अहमदाबाद (Ahmedabad) गुजरात का बहुत ही सुन्दर शहर है। यह पहले गुजरात की राजधानी हुआ करता था। इसको कर्णावती नाम से भी पहचाना जाता है। साबरमती...