कैंडी (Kandy) श्री लंका (Sri Lanka) के खूबसूरत पर्यटन स्थल के बारे में जानकारी


भारत की दक्षिण दिशा में श्री लंका (Sri Lanka) देश स्थित है। श्री लंका का हर राज्य अपनी प्राकृतिक सुंदरता के लिए प्रसिद्ध है। कैंडी (Kandy) नाम का राज्य विशेष रूप से जाना जाता है। दुनिया भर से बहुत बड़ी संख्या में सैलानी इस देश में घूमने के लिए आते है। साल 1988 में ही इस राज्य को यूनेस्को (UNESCO) ने विश्व धरोहर की सूचि में शामिल कर लिया था। यह धार्मिक और प्राकृतिक नज़र से बहुत ही महत्वपूर्ण है। 



कहा जाता है कि इस राज्य कि स्थापना 15 शताब्दी के करीब हुई थी। इसकी स्थापना गम्पोला के राजा विक्रमबाहु के द्वारा हुई थी। राजा विमलधर्मसूर्य प्रथम 16 शताब्दी में इसकी कमान को सँभाला था। इन्होंने दो बार पुर्तगाली सेना को नाकों तले चने चबवाए थे। राजा प्रथम ने द सेक्रेड टूथ रेलिक नाम के मंदिर की स्थापना भी की थी। वर्ष 1815 में अंग्रेजों ने इस पर अपना अधिकार जमा लिया था। आइए आज हम बात करते है, कैंडी (Kandy) श्री लंका (Sri Lanka) के पर्यटन स्थल के बारे में विस्तार सहित। 



कनखलेस रेंज मतले (Knuckles Range Matale)


कनखलेस रेंज मतले को "दुम्बारा कंडुवतिया" के नाम से भी जाना जाता है। इस पहाड़ में 34 चोटियां शामिल है। यहाँ की खूबसूरत चोटियों को देख कर हर कोई अचंभित रह जाता है। कनखलेस रेंज मतले चोटियों की समुद्र तल से ऊँचाई 900 से लेकर 2000 मीटर तक है। मॉउन्टन ट्रैकिंग के शौकीन लोगों के लिए स्वर्ग से कम नहीं है। 



पिनावाला हाथी अनाथालय (Pinnawala Elephant Orphanage)


सैलानियों के लिए पिनावाला हाथी अनाथालय बहुत ही सुन्दर जगह है। यहाँ पर एशिया के सब से ज्यादा जंगली हाथी देखने को मिलते है। परिवार के साथ एक दिन बिताने के लिए बहुत ही बढ़िया स्थान है। इस अनाथालय को वर्ष 1975 में बनाया गया था। इसको बनाए का सारा श्रेय श्री लंका (Sri Lanka) के जंगल विभाग को जाता है। 


यहाँ पर अनाथ हाथियों के साथ, उन हाथियों को भी रखा जाता है, जिन्हें किसी प्रकार की चोट या शारीरिक रूप से अपंग हो। हाथी अनाथालय के अधिकारियों के द्वारा पूरी सुरक्षा के साथ सैलानियों को इन हाथियों के साथ खेलने की सुविधा प्रदान करवाई है। यह घूमने के लिए वाकई में बहुत ही मजेदार जगह है। 



मदुरै ओए राष्ट्रीय उद्यान (Maduru Oya National Park )


मदुरै ओए राष्ट्रीय उद्यान में प्रमुख रूप से एशिया के हाथी देखने को मिलते है। इस उद्यान में अन्य जीव जंतु भी देखने को मिलते है। यहाँ पर पर्यटकों को बौद्ध धर्म से सम्बन्धित खंडर भी देखने को मिलते है। वर्ष 1983 में मदुरै ओए राष्ट्रीय उद्यान की स्थापना की गयी थी। प्रकृति प्यार करने वाले लोगों के लिए बहुत ही बढ़िया स्थान है।



द सेक्रेड टूथ रेलिक (The Sacred Tooth Relic Temple)


द सेक्रेड टूथ रेलिक मंदिर बौद्ध धर्म से सम्बन्ध रखता है। यह मंदिर कैंडी झील की उत्तर दिशा में स्थापित है। पर्यटकों के देखने लिए इस मंदिर में महावीर बौद्ध का दाँत है। यह बहुत ही शांत जगह है। हर किसी के मन को बहुत ज्यादा शांति मिलती है। द सेक्रेड टूथ रेलिक मंदिर की हर दीवार में छोटी छोटी खिड़की बनाई गयी है। इन खिड़कियों में लोग नारियल तेल से भरे दीप जलाते है। रात में इन दीपों का प्रकाश चारों और बहुत ही सुंदर दृश्य को बनाता है। 



सीलोन चाय संग्रहालय (Ceylon Tea Museum)


साल 1925 में सीलोन चाय संग्रहालय को बनाया गया था। जब इसे बनाया गया था, उस समय इसे हंताना के नाम से जाना जाता था। हंताना एक चाय बनाने वाला कारखाना था। जिसे बाद में साल 1988 में एक संग्रहालय के बदल दिया गया। यह संग्रहालय कैंडी (Kandy) नगर से करीब 3 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। 



गिरगामा चाय बागान (Giragama Tea Plantation)


गिरगामा चाय का बागान चाय की खेती के साथ, प्राकृतिक दृष्टि से बहुत ही महत्वपूर्ण है। यह बागान एक गांव में स्थित है। यहाँ हर साल बहुत ज्यादा सैलानी घूमने के लिए आते है। वह एक भी मौका नहीं खोते है, फोटो खींचने का। 




कैंडी राष्ट्रीय संग्रहालय  (Kandy National Museum)


वर्ष 1942 में कैंडी राष्ट्रीय संग्रहालय की स्थापना की गयी थी। इसमें श्री लंका की 5000 साल पुरानी पांडुलिपियां के साथ कलाकृतियों को संभाल कर रखा गया है। इतिहास में रुचि रखने वाले लोगों के बहुत ही अच्छा स्थान है। इस संग्रहालय को पहले सिर्फ शाही लोगों के रहने के उपयोग में लाया जाता था। इसे पहले पल्ले वाला के नाम से जाना जाता था। 



श्री महा बोधि विहारया (Sri Maha Bodhi Viharya )


श्री महा बोधि विहारया बहुत ही मनमोहक बोध मंदिर है। यहाँ पर भगवान बुध की बहुत ही विशाल मूर्ति को स्थापित किया गया है। इस मंदिर को बिग बुद्धा (बिग Buddha) या बहिरवाकंद विहार बुद्ध (Bahirawakanda Vihara Buddha Statue) के नाम से भी पहचाना जाता है। इस मंदिर की सुंदरता हर किसी को अपनी तरफ खींचने का कार्य करती है। 



लंकातिलक मंदिर (Lankatilaka Temple) 


इतिहासकारों के अनुमान अनुसार 14 वी शताब्दी में लंकातिलक मंदिर का निर्माण हुआ था। इस मंदिर का इतिहास गम्पोला से जुड़ा हुआ है। लंकातिलक मंदिर की वास्तुकला को देख कर पर्यटक बहुत ज्यादा हैरान रह जाते है। कैंडी (Kandy) जाने वाले पर्यटक इस मंदिर को देखने के लिए जरूर जाते है। यह मंदिर बौद्ध धर्म के विस्तार को दर्शाता है।  



बोटैनिकल उद्यान (Botanical Garden)


बोटैनिकल उद्यान कैंडी नगर से करीब 5 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। इस उद्यान में अनुमानित 4000 से ज्यादा वनस्पति देखने को मिलती है। इसके वातावरण को देख कर पर्यटक आनंदित हो जाते है। फूलों की खुशबु चारों तरफ फैली रहती है। यहाँ पर किसी भी फूल को तोड़ने की सख्त मनाही है। यह बच्चों के लिए बहुत ही बढ़िया स्थान है।  



रॉयल महल (Royal Palace)


14 वी सदी में रॉयल महल का निर्माण राजा विक्रम बाहु के द्वारा करवाया गया था। इसकी सुंदरता का हर कोई दीवाना है। सैलानियों को शाही चीज़ों के साथ, राजा बाहु के जीवन के बारे में बहुत कुछ जानने को मिलता है। यह महल कैंडी नगर की उत्तर दिशा में बना हुआ है। 



अंतर्राष्ट्रीय बौद्ध संग्रहालय (World Buddhist Museum)


अंतर्राष्ट्रीय बौद्ध संग्रहालय में श्री लंका (Sri Lanka) देश के बारे में बहुत सारी जानकारी जमा है। इसमें सांस्कृतिक और प्राकृतिक जानकारी राखी गयी है। किसी समय टूथ राष्ट्रीय संग्रहालय, मंदिर के साथ इसमें शाही निवास भी हुआ करता था। इस संग्रहालय में 17 दूसरे देशों के बारे में जानने का अवसर प्राप्त होता है। इतिहास में रुचि रखने वाले लोगों के अच्छा स्थान है।  



कैंडी झील (Kandy Lake)


परिवार के साथ एक दिन बिताने के लिए कैंडी झील बहुत बढ़िया स्थान है। यह झील शाही महल के साथ शाही बाग़ के साथ जुडी हुई है। लोग दूर दूर से इसके प्राकृतिक नज़ारों के साथ, किश्ती में बैठने का मजा लेने के लिए आते है। यहाँ का वातावरण बहुत ही शांत है। 

बरमूडा उत्तरी अमेरिका के देश के बारे में जानिए - Know the country of Bermuda North America


बरमूडा (Bermuda) द्वीप उत्तरी अमेरिका (North America) में स्थित उष्णकटिबंधीय क्षेत्र है। यहां पर ब्रिटिश कानून चलते है। यह द्वीप अपनी खूबसूरती के लिए दुनिया भर में प्रसिद्ध है। सैलानियों के लिए बरमूडा में घूमने का सब से अच्छा स्थान सितम्बर से अक्तूबर तक का है। इसके समुंदर का पानी बिलकुल नील रंग का है। इसके इतिहास बहुत ही रोचक है। इतिहास में रुचि रखने वाले लोगों के लिए बहुत ही बढ़िया स्थान है।



यह 7 बड़े द्वीप और 170 के करीब छोटे द्वीप को मिलाकर बना है। यह उत्तरी अटलांटिक महासागर के क्षेत्र पर बसा हुआ है। इसे यूनेस्को ने विश्व धरोहर में शामिल किया हुआ है। सैलानियों के लिए कई संग्रहालय, गोल्फ के मैदान, सुंदर द्वीप घूमने के लिए बहुत ही अच्छे स्थान है। यहाँ पर मिलने वाला समुद्री खाना बहुत ही स्वादिष्ट  होता है। आइये आज हम बात करते है, बरमूडा के सुन्दर पर्यटक स्थल के बारे में विस्तार सहित। 



स्पिटल तालाब प्रकृति रिजर्व (Spittal Pond Nature Reserve)


स्पिटल तालाब प्रकृति रिजर्व प्रकृति प्रेमियों के लिए बहुत ही अच्छा स्थान है। यहाँ पर सैलानियों बहुत ही अलग प्रकार के जंगल, जीव - जंतु और वनस्पति देखने के लिए मिलेगी। इसको पैदल चलकर देखने का मजा कुछ और ही है। यह पार्क करीब 60 एकड़ में फैला हुआ है। सैलानियों को विशेष रूप से कई प्रकार के पक्षी भी देखने को मिलेंगे। जिन्होंने इस स्पिटल तालाब प्रकृति रिजर्व को अपना घर बनाया हुआ है। यहाँ पर मिट्टी ज्यादातर गीली ही मिलेगी। 



घोड़े की नाल बे तट (Horseshoe bay beach)


घोड़े की नाल बे तट बरमूडा के सब से सुन्दर समुद्री तटों में से एक है। यहाँ की जलवायु पर्यटकों को बहुत ज्यादा भाती है। यहीं सब से ज्यादा लोगों की भीड़ देखी जा सकती है। परिवार के साथ कुछ दिन बिताने के लिए बहुत ही बढ़िया स्थान है। इस तट पर कुछ चट्टानें सैलानियों को अपनी तरफ आकर्षित करती नज़र आती है। 


वारविक लांग बे तट, कोहनी तट, जॉन स्मिथ की खाड़ी साथ में घूमने वाले बहुत बढ़िया स्थान है। पर्यटक (Tourist) तैरने के साथ, स्कॉरलिंग का भी आनंद उठा सकते है। यहाँ पर मई से सितम्बर तक गोताखोर घूमते रहते है। यह वाकई में बहुत ही अच्छा स्थान है। 





मास्टरवर्क संग्रहालय (Masterworks Museum of Bermuda art)


कला प्रेमियों के लिए बरमूडा (Bermuda) का मस्टरवॉर्क संग्रहालय बहुत ही अच्छा स्थान है। कला प्रेमियों को कई तरह की पेंटिंग, हस्तशिल्प कार्य देखने को मिलेंगे। इसमें एक बोटॉनिकल गार्डन भी स्थित है। जहाँ पर बहुत ही खूबसूरत फूल भी देखने को मिलते है। यह वाकई में कमाल का स्थान है। इसमें एक कैफ़े और कुछ खरीदारी करने के लिए दुकान भी है।



हैमिल्टन (Hamilton) 


हैमिल्टन शहर बरमूडा की राजधानी है। यह बहुत ही सुन्दर नगर होने के साथ बरमूडा की राजधानी भी है। यह बंदरगाह के बहुत ही समीप में स्थित है। सैलानी खरीदारी, स्वादिष्ट भोजन के साथ, कई संग्रहालयों को देखने का अवसर पा सकते है। क्रूज या किश्ती में बैठ कर दूर तक समुद्र का नज़ारा देख सकते है। 


पुरानी संसद, असेंबली के बरमूडा हाउस, बरमूडा नेशनल गैलरी, बरमूडा सोसाइटी ऑफ आर्ट्स गैलरी और फ्रंट स्ट्रीट सब से ज्यादा पर्यटकों के द्वारा देखे जाते है। ट्रिनिटी के एंग्लिकन कैथेड्रल, सेंट पॉल चर्च और सेंट एंड्रयू प्रेस्बिटेरियन चर्च अपनी खूबसूरती के लिए प्रसिद्ध है। 



मलबे डाइविंग (Malbe diving)


बरमूडा (Bermuda) की चट्टानों से टकराकर कई जहाज़ समुद्र के अंदर समा गए थे। समुद्र में डूबा हुआ जहाज़ों का मलबा गोताखोरों के लिए जन्नत से कम नहीं है। गोताखोर छलांग लगाकर इस मलबे को ढूंढ़ने की कोशिश करते है। बरमूडा की "मलबे की राजधानी" भी कहा जाता है। डाइविंग के शौकीन लोगों के लिए बहुत अच्छी जगह है। मलबे के साथ समुद्री जीवन को देखने और समझने का मौका मिलता है।



सेंट जॉर्ज (Sant Geroge) 


सेंट जॉर्ज बहुत ही सुन्दर छोटा सा द्वीप है। यूनेस्को ने इसको विश्व धरोहर में शामिल किया हुआ है। बरमूडा नेशनल ट्रस्ट संग्रहालय, द सेंट जॉर्ज हिस्टोरिकल सोसाइटी संग्रहालय, सेंट पीटर चर्च और टकर हाउस संग्रहालय को सैलानी विशेष रूप से देखने जाते है। यहाँ पर बनी इमारतों के रंग सफ़ेद है। सेंट जॉर्ज में सड़कें बहुत ही शांत और साफ़ है।    



एक्वेरियम, संग्रहालय और चिड़ियाघर बरमूडा (Bermuda aquarium - Museum - Zoo)


दुनिया का सब से पुराना एक्वेरियम, संग्रहालय, और चिड़ियाघर बरमूडा में स्थित है। इसमें 300 के करीब मछलियां, स्तनधारी, सरीसृपों को रखा गया है। यह लुप्त होने वाली प्रजातियों को बचा कर रखने वाला एक्वेरियम, संग्रहालय और चिड़ियाघर है। ब्लैक ग्रूपर, शार्क, लाइव कोरल, समुद्री कछुए के साथ और भी कई दुर्लभ जीवों को रखा गया है। यहाँ जीवों में रुचि रखने वाले लोग जरूर आते है। 



सेंट पीटर गिरजा घर (Sant peter church) 


एक साधारण सी वास्तुकला के डिजाइन से बना सेंट पीटर गिरजा घर सैलानियों के आकर्षण का केंद्र है। इसका निर्माण 1622 में हुआ था। इसकी इमारत का रंग सफ़ेद है। इस गिरजा घर में काफी काम लाल देवदार लकड़ी से किया गया है। सेंट पीटर चर्च में लगी चाँदी, बपस्तिमा देने वाले फ़ॉन्ट का इतिहास लगभग 900 साल पुराना है।    



तम्बाकू बे तट (Tabaco bay beach)


तम्बाकू बे तट को वर्ष 1600 में खोजा गया था। इसके आसपास के जंगलों में बहुत बड़ी मात्रा में तम्बाकू (Tabaco) का उत्पादन किया जाता था। इस तट का पानी पारदर्शी है। जिसके कारण प्राकृतिक दृश्य बहुत सुन्दर दिखाई देते है। चुना पत्थर की चट्टानें बहुत बड़ी संख्या में देखने को मिलती है। जिन को स्कॉरलिंग में आनंद आता है, वह जरूर आये। परिवार के साथ कुछ दिन बिताने के बहुत बढ़िया स्थान है। 



चर्च बे तट (Church bay beach) 


प्रकृति के खूबसूरत दृश्य देखने के लिए चर्च बे तट बहुत ही बढ़िया स्थान है। यहाँ पर आ कर सैलानी (Tourist) दुनिया को बिलकुल ही भूल जाते है। यह तट छोटा जरूर है, लेकिन बहुत ही आकर्षक है। यहाँ का पानी काफी तेज़ी से चट्टानों के साथ टकराता है। बच्चों का विशेष रूप से ध्यान रखना बहुत ही जरूरी है। यह उत्तरी अमेरिका (North America)के खूबसूरत देशों में से एक है। 

दक्षिण अमेरिका के बोलीविया देश के प्रमुख पर्यटन स्थल के बारे में जानिए - Know the major tourist destination of Bolivia country of South America


दक्षिण अमेरिका (South America) में बोलीविया (Bolivia) देश अपनी संस्कृति और प्राकृतिक खूबसूरती के लिए दुनिया भर में प्रसिद्ध है। यह बहुत ही शांति से भरा देश है। यहाँ बहुत भीड़ भाड़ वाले इलाके नहीं है। इस देश के लोग बहुत ही मिलनसार है। सैलानियों (Tourists) के साथ बहुत अच्छे से पेश आते है। बोलीविया देश के बाजरों की रौनक को भुला बहुत आसान नहीं है। आइये आज हम बात करते है बोलीविया देश के पर्यटक स्थल (Tourist place) के बारे में विस्तार सहित।  



टीटीकाका झील (Titicaca lake)


टिटिकाका झील बहुत ही सुन्दर और आकर्षक झील है। इसे संसार की सब से ऊंची झीलों में से एक होने का खिताब हासिल है। कुछ विद्वानों के अनुसार यह इंका साम्राज्य का जन्म स्थान है। आयमारा के प्राचीन गांव को देखने का अवसर भी मिलेगा। टिटिकाका झील कोपाकबाना समुंदरी तट पर स्थित है। इसकी खूबसूरती का पूरी तरह से आनंद लेने के लिए किश्ती में बैठ कर यात्रा करें। कोपाकबाना में अच्छे महंगे रेस्त्रां और खरीदारी के बहुत सारी दुकानें भी मिल जाएंगी। 



तिवनकू शहर (Tiwanaku city)

तिवनकू शहर को इंका सभ्यता के लिए सब से ज्यादा जाना जाता है। यह अभी तक के सब से पुराने शहरों में से के है। इसको वर्ष 2000 में यूनेस्को (UNESCO) ने विश्व धरोहर स्थल के लिए स्वीकार किया था। यहाँ पर पत्थर से बनी बहुत ज्यादा मूर्तियां है। इस शहर की खोज कब हुई इसके बारे में किसी भी इतिहासकार के पास कोई पुख्ता सबूत नहीं है। इस शहर से 72 किलोमीटर की दूरी पर ला पाज शहर है। इस शहर में इतिहास के शौकीन लोगों के लिए बहुत कुछ है। यहाँ पर बनी कुछ मूर्तियाँ सैलानियों को विचलित करती भी नज़र आती है। यहाँ पर वास्तुकला का अद्भुत नज़ारा देखने को मिलता है। 



युंगास सड़क (Yungas road)


युंगास सड़क संसार की सब से ज्यादा खतरनाक सड़कों में से है। यह सड़क खतरनाक होने के बावजूद भी सैलानियों में बहुत ज्यादा प्रसिद्ध है। इसे "डेथ रोड" या "मौत की सड़क" के नाम से भी जाना जाता है। पहाड़ों के बीच से हो कर गुजरने वाली सड़क में बहुत ज्यादा घुमाव है। ज्यादा घुमाव होने के कारण लोग कई फुट नीचे गिर कर मर जाते है। इसकी लंबाई 69 किलोमीटर के करीब है। यह रोड ला पाज़ से कोरोइको तक जाती है। 


वर्ष 2009 में एक नई सड़क से इसको जोड़ा गया है। जिसके कारण दुर्घटनाओं में काफी कमी आयी है। दुर्घटना कमी के बावजूद, आज भी यह सड़क कई लोगों की जान ले रही है। इस सड़क से गुजरते वक्त सैलानी (Tourist) पहाड़ों के मनमोहक दृश्यों को देख कर खुद को आनंदित कर सकते है। यह वाकई में ज्यादा खतरनाक के साथ सुन्दर भी है। 



यह भी पढ़े :- आप भी जानिए सहारा या महान रेगिस्तान के बारे में - You also know about the Sahara or the great desert


ला पॉज़ (La paz)


ला पॉज़ बोलीविया (Bolivia) का बहुत ही सुन्दर शहर है। यह देश का तीसरा बड़ा नगर है। यहाँ से बर्फ से ढके पहाड़ों को देखने का मजा कुछ और ही है। एड्रेनालाईन पम्पिंग (adrenaline pumping ) का सैलानी (Tourist) मुख्य रूप से आनंद ले सकते है। ला पॉज़ का इतिहास बहुत ही रोचक है। इसकी जीवन शैली सैलानियों के दिलों को छू जाती है। पर्यटकों को अच्छे बार, रेस्त्रां और खरीदारी करने के लिए दुकानें भी मिल जाएंगी। 



दी चिक्विटानिआ (The Chiquitania)


दी चिक्विटानिआ एक रेगिस्तान है। यह रेगिस्तान देश के दूसरे शहरों से बिलकुल अलग है। यहाँ सैलानियों के लिए सैंटियागो डे चिकिटोस मिराडोर (The Santiago de Chiquitos Mirador), जेसुइट मिशन (Jesuit Missions), का लया राष्ट्रीय उद्यान (Kaa Iya National Park) मुख्य पर्यटन स्थल है। जिन लोगों को इतिहास में रुचि है, उनके लिए बहुत बढ़िया स्थान है। इसके प्राकृतिक दृश्य हर किसी के दिल को छू जाते है। 



मदिदि राष्ट्रीय उद्यान (Madidi national park)


मदिदि राष्ट्रीय उद्यान बहुत ही घना जंगल है। यह एंडीज पर्वत से करीब 7000 वर्ग मील की दूरी पर अमेजॉन के खतरनाक जंगलों में स्थित है। यहाँ पर पर्यटकों को संसार के सब से विचित्र जीव-जंतु देखने को मिलते है। जंगली जीवन को खोजने वाले लोगों के लिए यह बहुत अच्छा स्थान है। मदिदि राष्ट्रीय उद्यान में कई तरह की वनस्पति और फूल देखने को मिलते है। 



सुक्रे (Sucre)


सुक्रे बोलीविया का अति सुन्दर नगर है। इस नगर की प्राचीन ऐतिहासिक इमारतें सैलानियों का दिल जीतने में कामयाब रहती है। इसकी स्थापना 16 वी शताब्दी में स्पेनिश लोगों के द्वारा की गयी थी। पर्यटकों को स्पेनिश संस्कृति को देखने और जानने का अवसर मिलता है। इसे यूनेस्को (UNESCO) ने विश्व धरोहर की सूचि में शामिल किया हुआ है। यह सुरक्षित और सस्ते शहर के लिए पूरे दक्षिणी अमेरिका में मशहूर है। 



पोटोसी (Potosi)


पोटोसी नगर में सब से ज्यादा चाँदी धातु को निकालने के लिए जाना जाता है। इसे सेरो रिको पोटोसी के नाम से भी जाना जाता है। यह दुनिया के सब से ऊंचे शहर में से एक है। दक्षिण अमेरिका (South America) का बोलीविया एक गरीब देश है। जिसके कारण लोगों को अपना घर चलाने के लिए चाँदी की खानों में काम करना पड़ता है। यह काम बहुत ही ज्यादा खतरनाक होता है। खदानों के बारे में और वहां काम करने वाले लोगों के रहन सहन के बारे में जानकारी लेने के लिए पोटोसी बहुत अच्छा स्थान है। 



अल्टीप्लानो (Altiplano)


अल्टीप्लानो नगर खदानों के लिए मशहूर है। यहाँ पर चाँदी के अलावा कई महंगी धातुएँ धरती के नीचे से निकलती है। यह शहर दक्षिण अमेरिका में होने वाले ओरुआरो कार्निवाल त्यौहार के लिए जाना जाता है। दुनिया के कोने कोने से लोग इस नगर का कार्निवाल उत्सव देखने के लिए आते है। इस उत्सव में लोग बहुत ही अलग अलग रंग और आकर के कपड़े पहनते है। जिस के बाद करीब 20 घंटे तक लोग नाचते और गाते शहर की गलियों से गुजरते है। हर साल लगभग 400000 लोग इस उत्सव का हिस्सा बनते है।  



सालार दे उयूनी (Salar De Uyuni)


सालार दे उयूनी को सब से ज्यादा नमक की पैदावार के लिए जाना जाता है। इसे सफ़ेद रेगिस्तान कहना भी गलत नहीं होगा। यहाँ पर सैलानियों को कैक्टस के पौधे भी बहुत बड़ी संख्या में देखने को मिलते है। सुबह के समय सूरज की लालिमा बहुत ही दृश्य को पेश करती है। यह अपनी तरह का इकलौता स्थान है। सालार दे उयूनी अद्भुत स्थान है। 



तरीज़ा (Tarija)


बोलीविया (Bolivia) का तरीज़ा नगर सब से ज्यादा अंगूर की शराब का उत्पादन करता है। यहाँ की बानी शराब दुनिया भर में  प्रसिद्ध है। तरीज़ा को कला और संस्कृति के लिए भी जाना जाता है। यहाँ का वातावरण बहुत ही बढ़िया है। सैलानियों को स्वादिष्ट भोजन भी खाने के लिए मिलता है। इस नगर के बाजारों की रौनक सभी को भाती है।


जानिए खूबसूरत सुखना झील चंडीगढ़ पर्यटक स्थल के बारे में विस्तार सहित - Know the detail about the beautiful Sukhna Lake Chandigarh tourist place



हरियाणा और पंजाब राज्यों की राजधानी का नाम चंडीगढ़ (Chandigarh) है। चडीगढ़ शहर अपनी खूबसूरती के लिए पूरे भारतवर्ष में प्रसिद्ध है। इस शहर में पर्यटकों (Tourists) के देखने के लिए बहुत कुछ है। प्रति वर्ष बहुत बड़ी संख्या में लोग घूमने के लिए आते है। यह शहर अंग्रेजों के द्वारा बसाया गया था। सुखना झील, रोज गार्डन, गोल्फ कोर्स, शॉपिंग मॉल के साथ पंजाबी फिल्मों के गढ़ होने का कारण बहुत ज्यादा प्रसिद्ध है। इन सब में सुखना झील शहर के सब से अच्छे पर्यटन स्थलों में से एक है। आइये आज हम बात करते है, खूबसूरत सुखना झील (Sukhna Lake) के बारे में विस्तार सहित। 



इतिहास सुखना झील का (History of Sukhna Lake)


सुखना झील (Sukhna Lake) मानव निर्मित झील है। इस झील को पी एल वर्मा और कोर्बुसीयर के द्वारा तैयार करवाया गया था। इसके निर्माण का वर्ष 1958 था। झील के बनने कुछ वर्ष तक इसमें मगरमच्छ पाए गए थे। साल 1967 -1976 तक हरियाणा राज्यपाल वरिंदर नारायण चक्रवर्ती के नाम से भी इस झील को जाना जाता था। साइबेरियाई बतख, क्रेन और कई प्रवासी पक्षियों के लिए, यह झील घर भी है। इस झील में कई प्रकार की मछलियां भी पायी जाती है। इसके आस पास दिखने वाली पहाड़ियां बहुत ही सुंदर दृश्यों को पेश करती है। 



सुखना झील पर क्या करें (What to do at Sukhna Lake)


सुखना झील पर दोस्तों और परिवार के साथ लोग जाना पसंद करते है। सैलानी किश्ती चलाना, शिकारी नाव में सैर, टहलने के साथ कॉफ़ी पीना बहुत ज्यादा पसंद करते है। लोग इस झील ऊँट की सवारी करना सब से ज्यादा पसंद करते है। बच्चों के लिए यह स्थान बहुत ही बढ़िया जगह है। एक दिन पूरा कब में गुजर जाता है, लोगों को बिलकुल भी नहीं पता लगता है। 





समय/ शुल्क (Time/ Entry fees) 


सैलानी (Tourist) सुबह 5 बजे से रात 9 बजे तक इसके सुन्दर दृश्यों का आनंद ले सकते है। यह  हफ्ते के सातों दिन खुला रहता है। यहाँ घूमने का कोई शुल्क नहीं लिया जाता है लेकिन किश्ती में सवारी करने के लिए प्रति व्यक्ति 50 रुपए शुल्क लगता है। नाव चलाने का समय सुबह 9.30 से शाम 6 बजे तक का है। अगस्त से मार्च महीने का समय बहुत बढ़िया समय है। इस झील पर घूमने के लिए। 



कैसे जाए (How to go)


चंडीगढ़ (Chandigarh) लोग सड़क, रेल और हवाई जहाज़ से भी जा सकते है। इस शहर में अपना घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा है। 



सुखना झील के पास में पर्यटक स्थल (Tourist places near Sukhna lake)


रोज गार्डन, पिंजौर गार्डन,अंतर्राष्ट्रीय गुड़िया संग्रहालय, रॉक गार्डन, थंडर जोन, एक्वा विलेज, संग्रहालय और आर्ट गैलरी के साथ मोहाली क्रिकेट ग्राउंड देखने के लिए बहुत बढ़िया स्थान है।

आप भी जानिए सहारा या महान रेगिस्तान के बारे में - You also know about the Sahara or the great desert




दुनिया के सब से बड़े रेगिस्तान (Desert) का नाम सहारा है। इस रेगिस्तान को महान सहारा (Great desert) के नाम से भी जाना जाता है। यह रेगिस्तान अफ्रीका महाद्वीप (Africa continent)में स्थित है। महान सहारा पूर्व में अटलांटिक महासागर से नील नदी होते हुए लाल सागर तक फैला हुआ है। सहारा रेगिस्तान (Sahara Desert) दक्षिण की तरफ मोरक्को एटलस पर्वत और भू मध्य सागर से घिरा हुआ है। इसके फैलाव का क्षेत्रफल करीब 9.2 मिलियन वर्ग किलोमीटर है। 



मॉरिटानिया, नाइजर, पश्चिमी सहारा, सूडान,  ट्यूनीशिया, अल्जीरिया, चाड, मिस्र, लीबिया और माली का क्षेत्र इस रेगिस्तान के हिस्से में आता है। इस रेगिस्तान में बारिश बहुत कम, वह भी कभी कभी होती है। यहाँ पर कई तरह की वनस्पति, जीव जंतुओं के साथ आदमी भी जीवन व्यतीत करता है। महान सहारा (Great Desert) में बहुत ज्यादा गर्मी पड़ने के बावजूद भी, हर साल बहुत बड़ी संख्या में सैलानी घूमने के लिए आते है। यह वाकई में बहुत ही अद्भुत स्थान है। आइये आज हम बात करते है सहारा रेगिस्तान के बारे में विस्तार सहित। 




यह भी देखिये :- सैन लुइस ओबिस्पो San luis obispo उत्तरी अमेरिका कैलिफ़ोर्निया North America California के पर्यटक स्थल के बारे में जानिए


महान सहारा मरुस्थल का इतिहास (History of great sahara desert)


भू वैज्ञानिकों के अनुसार करीब 6000 साल पहले यह जगह बहुत ज्यादा हरी भरी थी। मौसम में एकदम बहुत ज्यादा बदलाव आने के कारण, यह रेगिस्तान में बदल गया। यहाँ पर दिन प्रति दिन गर्मी बहुत ज्यादा बढ़ती गयी। तापमान के बहुत ज्यादा बढ़ने के कारण लोग दूसरे स्थानों की तरफ रुख करने लगे। विद्वानों के विचार अनुसार किसी समय में डायनासोर इस जगह पर रहते थे। लोगों के द्वारा कृषि करने के निशान भी पाए गए है। यहाँ वर्ष 2006 में उल्का पिंड भी वैज्ञानिकों को मिले है।



सहारा रेगिस्तान का रहस्य (Secret of sahara desert)


सहारा रेगिस्तान की में एक नीले रंग की आँख बनी हुई है। इस आँख को अंतरिक्ष से ही देखा जा सकता है। कुछ विद्वानों के अनुसार यह आँख इंसानों के द्वारा बनाई गयी है, वहीं कुछ का कहना है कि यह दूसरे ग्रहों के लोगों के द्वारा बनाई गयी है। कुछ सालों पहले बर्फ गिरने की वजह से इस मरुस्थल में नदी बन गयी थी। गुएल्टा डी आर्चेई नाम की इस नदी का पानी कभी खत्म नहीं होता है। ऊंटों के मल मूत्र के कारण इस नदी का पानी काला पड़ गया है। 



इस मरुस्थल (Desert) का तापमान दिन के समय 56 डिग्री से ज्यादा और रात में शून्य डिग्री से भी नीचे चला जाता है। संसार की सब से बड़ी नील नदी इसी रेगिस्तान से हो कर जाती है। यहाँ पर सब से ज्यादा ऊंटों को खरीदने और बेचने का कार्य किया जाता है। इसके कई टीलों की ऊँचाई 180 मीटर से भी ज्यादा होती है। वर्ष 13 सितम्बर 1922 को इस मरुस्थल का तापमान 136 डिग्री दर्ज किया गया था। 



सहारा का जन जीवन (Sahara's public life)


सहारा में अरबी भाषा मुख्य रूप से बोली जाती है। यहाँ पर तुआरेग लोग अलग अलग कबीले बना कर रहते है। तुआरेग लोग बुर्किना फासो, लीबिया, नाइजीरिया, माली, अल्जीरिया, ट्युनिसिया और मोरक्को देश के लोग है। यह सभी देश अफ्रीका महाद्वीप पर स्थित है। लोग अपने आजीविका चलने के लिए तावीज, गहने और हस्त शिल्प चीजों को बनाने का कार्य करते है। यह लोग प्रदूषण से बचने के लिए अपने मुंह को हमेशा ढक कर रखते है। 


यहाँ मरुस्थल में कई प्रकार के जानवर भी पाए जाते है। जिनमें गेरबिल, जरबोआ, रेगिस्तानी हाथी, बिस्क्रा, डामा हिरण, न्यूबियन जंगली गधा, छिपकली, गिरगिट और कोबरा प्रमुख रूप से पाए जाते है। इस जगह पर खजूर, रेगिस्तानी लौकी, ओलिव पेड़, तामरिस्क प्रमुख वनस्पति है। ज्यादा गर्मी होने के बावजूद कई तरह के पौधे भी पाए जाते है। 



जिन लोगों ने इस रेगिस्तान को घूमने का मजा ट्रेन से लेना हो, तो वह भी संभव है। इस रेगिस्तान के बीच में एक रेल चलाई जाती है, जिसमें पर्यटक बैठ कर इस मरुस्थल का आनंद उठा सकते है। सहारा रेगिस्तान घूमने का आनंद बहुत ही ज्यादा रोचक है।